EBM News Hindi

ISL 2021 : केरला ब्लास्टर्स का जीत का इंतजार खत्म, 11 मैचों के बाद मिली जीत

वास्को डे गामा (गोवा) : केरला ब्लास्टर्स एफसी ने रविवार को यहां के तिलक मैदान स्टेडियम में खेले गए इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के आठवें सीजन के मैच में ओड़िशा एफसी को 2-1 से हरा दिया। केरला को 11 मैचों के इंतजार के बाद जीत मिली। केरला की जीत में एल्विरो वाजक्यूएज और प्रशांत करुथाडाथकुनी ने गोल दागे। इस सीजन में एक हार और दो ड्रा खेलने के बाद केरला ब्लास्टर्स को यह जीत मिली जबकि ओड़िशा एफसी की तीन मैचों में यह पहली हार रही। केरला की टीम आईएसएल के पिछले 11 मैचों में जीत से दूर रही थी।
केरला की टीम पूरी तरह से हावी रही। उसके खिलाड़ियों ने पूरे मैच में दबदबा बनाए रखा, जिसके परिणाम स्वरूप यह जीत उसे मिला। पहला हाफ गोलरहित रहने के बाद मैच का पहला गोल 62वें मिनट में एल्विरो वाजक्यूएज ने दागकर स्कोर केरला के पक्ष में 1-0 कर दिया। उन्होंने एड्रियन लुना के एक लंबे पास पर गेंद लेकर यह गोल दागा। इसके बाद 85वें मिनट में स्थानपन्न खिलाड़ी के रूप में उतरे प्रशांत करुथाडाथकुनी ने स्कोर 2-0 कर दिया। प्रशांत के गोल में भी एड्रियन लुना की भूमिका रही। मैच के स्टॉपेज टाइम में ओड़िशा के लिए सांत्वाना गोल स्थानपन्न खिलाड़ी के रूप में उतरे निखिल राज ने किया। इस तरह अंतिम स्कोरलाइन 2-1 रही।
मध्यांतर के बाद 50वें मिनट में सहाल समद ने ड्रिब्लिंग का शानदार प्रदर्शन करते हुए ओड़िशा एफसी की डिफेंस में सेंध लगाया, लेकिन कुछ खिलाड़ियों को छकाने के बाद उन्होंने बॉक्स के किनारे पर गेंद से नियंत्रण खो दिया और गेंद राइट फ्लैंक पर खड़े एड्रियन लुना के पास गई। लेकिन लुना का शॉट गोलपोस्ट के करीब से निकल गया। मैच का दूसरा येलो कार्ड 49वें मिनट में केरला ब्लास्टर्स के क्रोएशियाई डिफेंडर मार्को लेस्कोविक को मिला। मैच का तीसरा येलो कार्ड 69वें मिनट में केरला के डिफेंडर टी. जीकसन सिंह को मिला।

इससे पूर्व गोलरहित पहले हाफ में केरला ब्लास्टर हावी रहे। उसके खिलाड़ियों ने अच्छी पासिंग दिखाते हुए बेहतर खेल दिखाया। लेकिन वे अपने दबदबे को स्कोर में तब्दील नहीं कर सके। इसके विपरीत ओड़िसा एफसी को भी कुछेक अवसर मिले, जिनको भुनाने में उसके खिलाड़ी नाकाम रहे। दोनों टीमों के गोलकीपरों ने पहले हाफ में अच्छा प्रदर्शन किया है। इस तरह पहले हाफ में स्कोर 0-0 रहा। 25वें ओड़िशा एफसी के हाथ सबसे करीबी मौका आया, जब उसके स्पेनिश मिडफील्डर जेवियर हर्नांडेज का शॉट क्रॉसबार के ठीक ऊपर से निकल गया। उनके इस शॉट ने गोल पोस्ट से काफी आगे खड़े केरला के गोलकीपर एल्बिनो गोमेज को गोल बचाने के लिए पीछे भागने पर मजबूर किया। मैच के 44वें मिनट में केरला ब्लास्टर्स के कप्तान जेस्सेल कारनेइरो एक अच्छा मौका चूक गए। जब जेस्सेल को बाएं छोर पर बॉक्स के बाहर गेंद मिली और उन्होंने तेजी से आगे बढ़कर शॉट लगाया लेकिन वो लक्ष्य से भटक गया।

मैच का पहला येलो कार्ड 16वें मिनट में एम. थोइबा सिंह को दिखाया गया। ओड़िशा एफसी के मणिपुरी मिडफील्डर ने अपने हाफ में तेजी से आ रहे केरला ब्लास्टर एफसी के उरुग्वे के एड्रियन लुना को गिराकर फाउल किया। जिस पर रेफरी आर. वेंकटेश ने थोइबा को येलो कार्ड दिखा दिया। 7वें मिनट में, लुना ने एक बेहतरीन फ्रीकिक लगाई, लेकिन ओड़िशा के गोलकीपर कमलजीत सिंह ने अपनी बाईं ओर गोता लगाते हुए गेंद को अंदर जाने से रोककर अच्छा प्रदर्शन किया। यह मैच ओड़िशा एफसी का दूसरा और केरला ब्लास्टर्स का चौथा मैच था। यह ओड़िशा की पहली हार है। इससे पहले ओड़िशा ने अपने दोनों मैच जीते थे। उसने बेंगलुरू एफसी को 3-1 से और स्पोर्टिंग क्लब ईस्ट बंगाल को 6-4 से हराया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.