Ultimate magazine theme for WordPress.

संयुक्त किसान मोर्चा के आन्दोलन के 9 महीने

संयुक्त किसान मोर्चा , पश्चिम चम्पारण , आज दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसानों के शांतिपूर्ण धरना के 9 महीने पूरे होने को दुनिया का ऐतिहासिक आन्दोलन बताया और 6 सौ से अधिक धरनार्थियों के शहादत पर एक मिनट का मौन श्रद्धांजलि अर्पित करता है ।
संयुक्त किसान मोर्चा , बिहार राज्य किसान सभा द्वारा दिल्ली बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों के साथ एकजुटता जाहिर करने के लिए 31 अगस्त को एक सप्ताह के लिए एक हजार की संख्या में दिल्ली जा रहे किसानों का स्वागत करता है ।
संयुक्त किसान मोर्चा , पश्चिम चम्पारण जिले में हो रहे खाद की कालाबाजारी को केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा किसान विरोधी नीतियों के आधार पर किसानों को तंग वो तबाह करने का सुनियोजित योजना बताया है । जिसका मतलब खेती से विरक्त्ति पैदा करना है । ताकि ये किसान स्वेक्षा से अपनी जमीन कारपोरेट जगत को दे सकें ।
संयुक्त किसान मोर्चा , पश्चिम चंपारण केंद्र सरकार की इस घृणित कारवाई का कड़े शब्दों में तीखा विरोध करते हुए कहना चाहता है कि मोदी सरकार तथा डबल इंजन की बिहार सरकार अपनी काली करतूतों से बाज आवे और किसानों को खाद अविलंब उपलब्ध करावे ।
संयुक्त किसान मोर्चा पश्चिम चम्पारण मोदी सरकार द्वारा ईख के दाम में 5 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी यानी 290 रुपए प्रति क्विंटल को ना काफी बताया और बिहार सरकार से एस ए पी द्वारा गन्ने की कीमत 5 सौ रूपये प्रति क्विंटल करने की मांग की । साथ ही संघर्ष के बदौलत पजब के किसानों द्वारा गन्ने की कीमत 360 रुपए कराने के लिए बधाई दी ।
संयुक्त किसान मोर्चा ने पश्चिम चम्पारण में पंचायत चुनाव में सभी पदों पर संघर्षशील किसान उम्मीदवारों को पूर्ण रुप से सक्रिय सहयोग करने का निर्णय लिया है।

प्रभुराज नारायण राव ,जिला संयोजक , संयुक्त किसान मोर्चा
ओमप्रकाश क्रान्ति , नेता एटक
पंकज , लोक संघर्ष समिति
विजय कश्यप , जिला अध्यक्ष
राष्ट्रीय किसान मोर्चा
चांदसी प्रसाद यादव , जिला मंत्री
बिहार राज्य किसान सभा
राधामोहन यादव जिला मंत्री
पश्चिम चम्पारण किसान सभा
शंकर कुमार राव , जिला सचिव
सीटू , पश्चिम चम्पारण ।
प्रभुनाथ गुप्ता , जिला मंत्री
खेतिहर मजदूर यूनियन।

रिपोर्टर – संजय कुमार बबलू, बिहार

Leave A Reply

Your email address will not be published.