Ultimate magazine theme for WordPress.

Covid Toes Among Kids: बच्चों में कोरोना वायरस के दिखते हैं कुछ ऐसे अलग लक्षण!

नई दिल्ली। Covid Toes Among Kids: यूरोप और अमेरिका के त्वचा विशेषज्ञ आजकल कोरोना वायरस के मरीज़ को पहचानने के लिए एक नए तरह के लक्षण पर चर्चा कर रहे हैं। खासकर, अगर कोरोना वायरस का मरीज़ एक बच्चा या नौजवान व्यक्ति है। मार्च में इटली के कुछ त्वचा विशेषज्ञों के सामने कुछ ऐसे मरीज़ आए जिन्हें पैरों में सूजन और जलन की शिकायत थी। साथ ही उनके पैरों की उंगलियों का रंग भी बदला हुआ था।

ये फ्रॉस्टबाइट जैसा दिख रहा था, जो उन लोगों में पाया जाता है जो ऐसी जगह रहते हैं जहां सर्दी काफी पड़ती है। इसमें पैर की उंगलियों में रक्त वाहिकाओं में सूजन हो जाती है और पैर की उंगलियों में गंभीर ऐंठन होती है। इस स्थिति को कोविड-टोज़ कहा जा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसकी शिकायत वही लोग कर रहे हैं जो इटली की ऐसी जगह से आए थे जहां कोरोना वायरस का प्रकोप भयानक स्तर पर पहुंचा हुआ था।

अब, यही कोविड-टोज़ की स्थिति अमेरिका के बॉस्टन जैसे शहर में भी देखने को मिल रही है। जो बच्चे कोविड-टोज़ की शिकायत लेकर आ रहे हैं, अब अमेरिका के त्वचा विशेषज्ञ उन्हें कोरोना वायरस का टेस्ट कराने की सलाह दे रहे हैं।

इटली में ऐसे बच्चों में कोरोना वायरस के आम लक्षण नहीं देखे गए। त्वचा और मेडिकल विशेषज्ञों के बीच इस स्थिति और कोरोना वायरस के बीच संबंध को लेकर काफी बहस चली।

कोरोना वायरस संक्रमण महामारी इसलिए बन गया क्योंकि ये कोविड-19 के ऐसे मरीज़ों में पनपता है, जिसमें लक्षण नज़र नहीं आते हैं। दुनियाभर के स्वास्थ्य कर्मी उन लोगों का इलाज कर रहे हैं जो कोरोना वायरस से पीड़ित हैं, लेकिन असली चुनौती है ऐसे मरीज़ों को पहचानना जिनमें इस बीमारी के लक्षण नहीं दिख रहे हैं।

अचानक गंध और स्वाद का न आना या आंखों का लाल होना, अब असमान्य लक्षणों में आते हैं। असमान्य इसलिए क्योंकि सूखी खांसी, बुख़ार, गले में ख़राश, थकावट और सांस लेने में दिक्कत कोरोना वायरस के आम लक्षण हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.