EBM News Hindi

केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर किसान संगठनों की बैठक खत्म, थोड़ी देर में आंदोलन खत्म करने का कर सकते हैं ऐलान

नई दिल्ली. केंद्र सरकार  द्वारा किसानों को भेजे गए प्रस्ताव पर बैठक खत्म हो गई है. और माना जा रहा है कि किसान संगठन  थोड़ी देर में ही आंदोलन को खत्म करने पर बड़ा ऐलान कर सकते हैं. उधर 5 सदस्यीय कमेटी की बैठक के बाद युद्धवीर सिंह  ने कहा कि आज की बैठक कल की कड़ी में थी. उन्होंने कहा कि मंगलवार को कमेटी की ओर से सरकार को सवाल भेजे गए थे, जिस पर बुधवार को केंद्र सरकार  की ओर से रिवाइज ड्राफ्ट मिला है. युद्धवीर सिंहने कहा कि हमारी जो चर्चा हुई है, उस पर संयुक्त किसान मोर्चा की दो बजे होने वाली बैठक में उस पर अप्रूवल लेंगे. अभी तक का जो डेवलपमेंट है, उसे संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में रखेंगे.

उन्होंने कहा कि ‘सरकार हो या हमारा संगठन, हर किसी की अपनी कार्यशैली है. उस पर टिप्पणी नहीं कर सकते. सरकार हमसे बात नहीं करना चाहती, ये अहम नहीं है. जब कुछ ठोस होगा, तब बात हो सकती है. मुकदमों को लेकर संशय नहीं है. मुआवज़े को लेकर सरकार से अभी स्पष्टता चाहिए.’ इससे पहले खबर आई थी कि संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) की पांच सदस्यीय समिति बुधवार को केंद्रीय मंत्रियों अमित शाह और नरेंद्र सिंह तोमर से अलग-अलग मुलाकात कर कृषि संबंधी अपने लंबित मुद्दों पर चर्चा कर सकती है. एक किसान नेता ने यह जानकारी दी.

दोनों मंत्रियों के साथ संभावित चर्चा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे एसकेएम की दोपहर दो बजे से निर्धारित बैठक से कुछ घंटे पहले होगी. प्रदर्शन कर रहे 40 किसान संगठनों के शीर्ष संगठन एसकेएम के सदस्यों ने आंदोलन के भविष्य का फैसला करने के लिए बुधवार को सिंघू बॉर्डर पर एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है.

पहचान जाहिर नहीं करने का अनुरोध करते हुए एक वरिष्ठ किसान नेता ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘एसकेएम की पांच सदस्यीय समिति की आज सुबह एक आंतरिक बैठक होगी और फिर वे किसानों के मुद्दों और लंबित मांगों पर चर्चा करने के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मिलने वाले हैं.’ उन्होंने कहा, ‘समिति के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मिलने की संभावना है. इसके बाद, एसकेएम की दोपहर दो बजे की बैठक के बाद फैसला होने की संभावना है.’

किसान नेता ने कहा कि किसानों की मांगों पर विचार करने में सरकार का रवैया हाल में ‘सकारात्मक’ रहा है और उन्होंने किसान आंदोलन के भविष्य के संबंध में सकारात्मक निर्णय की ओर इशारा किया. संयुक्त किसान मोर्चा ने मंगलवार को कहा कि उसने आंदोलन को समाप्त करने का अनुरोध करने वाले सरकार के प्रस्ताव का जवाब दिया है, जिसमें कुछ बिंदुओं पर स्पष्टीकरण मांगा गया है. इसमें किसानों पर दर्ज ‘फर्जी’ मामले वापस लेने के लिये पूर्व शर्त पर भी स्पष्टीकरण मांगा है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.