EBM News Hindi

इस हॉलीवुड सिंगर को देख बप्पी लहिरी सोचते थे कि काश मेरे पास पैसा होता ! पढ़िए गोल्डेन सिंगर की कहानी

बप्पी लहिरी  की चर्चा उनके संगीत के साथ-साथ गोल्ड लव के लिए भी होती है. 27 नवंबर 1952 में पश्चिम बंगाल के जलापाईगुड़ी में पैदा हुए बप्पी का असली नाम अलोकेश लहिरी है. बप्पी ने ही बॉलीवुड को डिस्को और रॉक म्यूजिक से रुबरू करवाया. 80 के दशक में बप्पी ने ‘डिस्को डांसर’ , ‘डांस-डांस’  फिल्मों में शानदार धुन और गाने देकर पर देश भर के नौजवानों को थिरकने पर मजबूर कर दिया था. इस फेमस संगीतकार की जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जा रही है,वैसे-वैसे सोने के आभूषण के प्रति चाहत भी बढ़ती जा रही है. अपने खास अंदाज की वजह से जाने वाले बप्पी के 69वें जन्मदिन पर बताते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें.

 बप्पी लहरीबॉलीवुड के एक ऐसे मशहूर संगीतकार और गायक है जिनका जिक्र आते ही मस्ती में डूबे, सोने के गहनों से लदे-फदे शख्स की तस्वीर उभर आती है. लेकिन आपको बता दें कि बप्पी दा ने ही इंडियन फिल्म इंडस्ट्री के म्यूजिक को नए दौर से परिचय करवाया था. जिस दौर में लोग रोमांस से भरे गाने सुनते थे, उस दौर में उन्होंने डिस्को डांस से इंट्रोड्यूस करवाया. अपनी नई और मस्त धुनों और गानों से कई फिल्म को सफल बनाने वाले बप्पी ने सफलता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की है. सोने की ज्वेलरी में दिखने वाले बप्पी के शुरुआती दौर में उनके पास एक चेन भी नहीं थी. इसके बारे में आपको आगे बताएंगे उससे पहले संगीत के सफर पर नजर डाल लेते हैं.

जिस उम्र में बच्चे बोलना और चलना सीखते हैं उस उम्र में बप्पी दाने वाद्ययंत्रों पर हाथ साफ करना शुरू कर दिया था. कहते हैं कि बप्पी ने मात्र 3 साल की उम्र में तबला बजाना शुरू कर दिया था. 17 साल की उम्र तक पहुंचते पहुंचते उन्होंने अपने करियर की दिशा तय कर ली थी. बप्पी को यूं तो घर में भी संगीत की शिक्षा मिली लेकिन प्रसिद्ध संगीतकार,गायक एस डी बर्मन की वजह से इंडस्ट्री में आए. बप्पी को बर्मन दा के गाने बहुत पसंद आते थे, इसलिए उन्हें खूब सुना और नियम से रियाज किया करते थे.

बप्पी दा  के नाम से फिल्म इंडस्ट्री में फेमस सिंगर ने 1972 में बंगाली फिल्म दादू में संगीत दिया था. इसके बाद बतौर संगीतकार पहली हिंदी फिल्म 1973 में आई ‘नन्हा शिकारी’ थी.  बप्पी को असली नाम और दाम मिला ताहिर हुसैन की फिल्म ‘जख्मी’ से. 1975 में आई इस फिल्म में म्यूजिक भी दिया और प्लेबैक सिंगिंग भी किया और दोगुने दाम भी मिले.

इस फिल्म में मिली सफलता के बाद बप्पी लहिरी को पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ा और इसके साथ ही हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में एक नए युग का एंट्री करवा लोगों का म्यूजिक का टेस्ट बदल दिया. ‘डिस्को डांसर’, ‘डांस-डांस’, शराबी, नमक हलाल जैसे फिल्मों को शानदार संगीत दे सुपरहिट बनाया. बप्पी लहिरी फेमस सिंगर, म्यूजिक डायरेक्टर, रिकॉर्डिंग प्रोड्यूसर होने के साथ-साथ एक्टर भी हैं. इन्होंने कुछ फिल्मों में बतौर एक्टर भी काम किया.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.