EBM News Hindi

Delhi Doctors Strike: रेजिडेंट्स डॉक्टर्स की हड़ताल में दिल्‍ली के 5 और अस्‍पताल हुए शामिल, मरीज भटकने पर मजबूर

नई दिल्‍ली. नीट-पीजी 2021 काउंसलिंग  में देरी के कारण दिल्‍ली के साथ देशभर के रेजिडेंट डॉक्टर्स कई दिन से हड़ताल  कर रहे हैं. रेजिडेंट डॉक्टर्स ने पहले 27 नवंबर से ओपीडी सेवा ठप की थीं, तो सोमवार (6 दिसंबर) से इमरजेंसी सेवाएं बंद करने से हड़कंप मच गया है. वहीं, रेजिडेंट डॉक्टरों के संगठन फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (एफओआरडीए) द्वारा बुलाई गई इस हड़ताल में पहले से शामिल आरएमएल अस्‍पताल, सफदरजंग अस्‍पताल और लेडी हार्डिंग अस्पताल के साथ गुरुवार से एलएनजेपी, जीबी पंत सुपर स्पेशिएलिटी, मौलाना आजाद डेंटल कॉलेज, गुरु नानक आई सेंटर के अलावा जीटीबी अस्पताल का नाम भी जुड़ गया है.

बता दें कि एफओआरडीए को राष्ट्रीय और राज्य आरडीए का भरपूर समर्थन मिल रहा है. वहीं, इस हड़ताल में दिल्ली के साथ-साथ कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात समेत कई राज्यों के डॉक्टर शामिल हैं.

रेजिडेंट डॉक्टर्स ने इमरजेंसी सेवाएं बंद करने का ऐलान सोमवार को किया था, तब से हड़ताल जारी है. एक तरफ सफदरजंग, आरएमएल और लेडी हार्डिंग में रेजिडेंट डॉक्टरों ने रूटीन से लेकर इमरजेंसी तक का बहिष्कार जारी रखा, वहीं, डीडीयू, जीटीबी और एलएनजेपी में ओपीडी सेवा प्रभावित रहीं. इसके अलावा आज यानी गुरुवार से इस हड़ताल में एलएनजेपी, जीबी पंत सुपर स्पेशिएलिटी, मौलाना आजाद डेंटल कॉलेज, गुरु नानक आई सेंटर के अलावा जीटीबी अस्पताल जुड़ गए हैं. इस दौरान रूटीन के साथ साथ इमरजेंसी सेवा के बहिष्कार करने का फैसला किया है, जिससे मरीज भटकने पर मजबूर हो गए हैं.

बहरहाल, बुधवार देर शाम फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (एफओआरडीए) ने विरोध प्रदर्शन आगे भी जारी रखने का ऐलान किया है. जानकारी के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान बताया गया है कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन होने और मंत्रालय की ओर से इस मामले को विशेष तौर पर वापस लेने की अपील भी की गई है. इस दौरान विश्वास दिलाया कि सरकार जल्द से जल्द काउंसिलिंग कराने के पक्ष में है, इसलिए डॉक्टरों को अपना विरोध प्रदर्शन वापस ले लेना चाहिए. वैसे इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में अगली तारीख 6 जनवरी तय की गई है. वहीं, डॉक्टर्स का कहना है कि जब तक काउंसिलिंग की डेट नहीं मिलती है, तब तक हड़ताल जारी रहेगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.