EBM News Hindi

रेनॉ ने पेश की उड़ने वाली कॉन्‍सेप्‍ट कार, देखें क्‍या हैं इसकी खूबियां

नई दिल्‍ली. फ्रांस की मल्‍टीनेशनल ऑटोमोबाइल कंपनी रेनॉ ने अपनी क्‍लासिक कार रेनॉ क्‍वाट्रेल  की 60वीं वर्षगांठ को मनाने के लिए फ्यूचरिस्टिक एडिशन पेश किया है. ‘द आर्सेनल’  की साझेदारी में कंपनी ने अपनी कॉन्‍सेप्‍ट फ्लाइंग मशीन एयर-4  का अनावरण किया. ये कॉन्‍सेप्‍ट कार कंपनी की कार रेनॉ क्‍वाट्रेल का फ्लाइंग वर्जन है. कंपनी के मुताबिक, एयर-4 आजादी का प्रतीक है. इसका निर्माण यातायात के जटिल होने के कारण हुआ है.

कैसी होगी कॉन्‍सेप्‍ट फ्लाइंग कार?
फ्लाइंग मशीन AIR4 पूरी तरह से कार्बन फाइबर से बनी है. इसकी डिजाइन क्‍लासिक कार रेनॉ-4L कार की तरह ही रखा गया है. रेनॉ ने कहा कि थ्रस्ट या लिफ्ट जैसी नई अवधारणाओं को शामिल करने के लिए फ्लाइंग मशीन की रिजिडीटी को पूरी तरह से अपग्रेड किया गया है. इसमें पहियों की जगह हर कोने में दो-ब्लेड प्रोपेलर दिए गए हैं. रेनॉ की के अनुसार, वाहन का चेसिस रोटा फ्रेम के बीच में मौजूद है. चालक रेनॉ 4 शेल को उठाकर वाहन में सीट तक पहुंच सकता है और इसे चला सकता है.

क्‍या होंगी फ्लाइंग कार की खूबियां?
रेनॉ की फ्लाइंग कार 22,000 एमएएच की लीथियम पॉलीमर बैटरी से संचालित है. इसकी कुल क्षमता 90,000 एमएएच है. यह 93.6 किमी प्रति घंटा की स्पीड से चल सकती है. फ्लाइंग मशीन 380 किलोग्राम का अधिकतम वेक्टरियल थ्रस्ट प्रदान करती है, जो लगभग 95 किलोग्राम प्रति प्रोपेलर है. रेनॉ की इस फ्लाइंग मशीन को जल्‍द ही सार्वजन‍िक किया जाएगा. ये फ्लाइंग मशीन अगले साल की शुरुआत में संयुक्त राज्य अमेरिका में नजर आने लगेगी.

क्‍लासिक कार रेनॉ क्‍वाट्रेल ने अपने 60 साल पूरे कर लिए हैं. बता दें इसका निर्माण 1961 और 1992 के बीच में किया गया था. ब्रांड की ओर से इस कार को एक सरल, कुशल और बहुमुखी व्‍हीकल के तौर पर पेश किया गया था. रेनॉ ग्रुप के पूर्व प्रमुख पियरे ड्रेफस ने इसे एक ब्लू जींस कार का नाम दिया था.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.