EBM News Hindi

Year Ender 2019: दुनिया में प्रकृति का प्रकोप, इन शक्‍लों में आई आपदाएं

0

नई दिल्‍ली। बाढ़, भूकंप और साइक्‍लोन समेत न जाने किन किन रूपों में इस साल प्राकृतिक आपदाओं ने पृथ्‍वी पर कहर बरपाया है। पृथ्‍वी की प्राकृतिक प्रक्रियाओं का प्रतिकूल प्रभाव प्राकृतिक आपदाओं के रूप में अपना प्रकोप दिखाता है। यह प्रकोप ज्‍वालामुखी फटने, सुनामी भूकंप, चक्रवाती तूफान, बाढ़, लैंडस्‍लाइड, वनों में आग लगने जैसी आपदाओं के रूप में आती हैं। दुनिया के सभी देश हर साल किसी न किसी प्राकृतिक आपदा की चपेट में आते हैं। ये प्राकृतिक आपदाएं भूकंप, सुनामी, ज्‍वालामुखी का फटना, लैंडस्‍लाइड, साइक्‍लोन जंगलों में आग लगना, सूखा आदि की शक्‍ल में आते हैं।

बाढ़ में न बचा पाक-ईरान… न ही वेनिस की खूबसूरती

इस साल बाढ़ के पानी में भारत के अधिकांश राज्‍य, पड़ोसी देश पाकिस्‍तान के साथ ईरान और चीन के अधिकांश इलाके समेत इटली के शहर वेनिस की खूबसूरती भी जलमग्‍न हो गई। बाढ़ ने इस साल खूब तबाही मचाई। इस वर्ष जुलाई माह में पाकिस्‍तान के विभिन्‍न इलाकों में भारी बारिश के कारण आए बाढ़ से जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त हो गया। 1966 के बाद हाइटाइड के कारण आए बाढ़ में वेनिस के 70 फीसद ऐतिहासिक इमारत जलमग्‍न हो गए और यहां आपातकाल लागू कर दिया गया। बता दें कि यहां का 80 फीसद हिस्‍सा यूनेस्‍को के विश्‍व धरोहर में शामिल है। वहीं चीन में पहले टाइफून लेकिमा और फिर देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में जुलाई और अगस्‍त में आए बाढ़ के कारण 200 से अधिक लोगों की जान चली गई और 60 से अधिक लोग घायल हो गए। वहीं ईरान के 31 में से 25 प्रांतों में बाढ़ का सामना कर पड़ा और भारत के आधे से अधिक इलाकों में बाढ़ ने तबाही मचाई।