EBM News Hindi

वर्ल्ड वुमन पावर लिफ्टिंग प्रतियोगिता में शामिल होंगी एमपी की चारुसिता

कटनी: मध्यप्रदेश के कटनी जिले की चारुसिता चतुर्वेदी ने नेशनल मास्टर्स पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल अपने नाम करते हुए देश का मान बढ़ाया है. इसके साथ ही उनका भारतीय महिला पावर लिफ्टिंग टीम में चयन हो गया. चारुसिता अब विश्व स्तरीय खिताब के लिए देश का नुमाइंदगी करेगीं. वर्ल्ड महिला पावर लिफ्टिंग प्रतियोगिता इसी साल अक्टूबर में मंगोलिया में होने वाली है.

चारुसिता ने 28 जुलाई को केरल के कोझिकोड में समाप्त हुई नेशनल मास्टर्स पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप 2018 के फाइनल में फोटो फिनिश रिजल्ट के बाद सिल्वर मेडल अर्जित किया है. यह टूर्नामेंट केरल के कोझिकोड में 26 से 29 जुलाई तक खेला गया. पावर लिफ्टिंग के तीन प्रारूप डेड लिफ्ट, स्क्वाट, बेंच प्रेस में कुल मिलाकर 350 किलोग्राम के लगभग भार उठाया जो सर्वोच्च वजन था, लेकिन फोटो फिनिश में टेक्निकली गोल्ड मेडल से चूक गईं.

इसके पहले चारुसिता ने प्रादेशिक पॉवर लिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीतकर मध्यप्रदेश की टीम में अपना स्थान पक्का किया था. इसी आधार पर कोझिकोड में हुई राष्ट्रीय प्रतियोगिता के फाइनल में चालीस वर्ष आयु वर्ग में मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिला. अपने पिता सत्यदेव चतुर्वेदी की प्रेरणा और स्वयं के जज्बे से विश्व कप के लिए चयनित होकर चारुसिता ने जिले और प्रदेश का गौरव बढ़ाया है.

चारुसिता नगर के कारेाबारी और समाज सेवक सियाराम तिवारी की पत्नी हैं जिनका उन्हें हर कदम पर सहयोग मिला. शादी के बाद उन्होंने पिता के साथ जिम की प्रैक्टिस शुरू की. वजन उठाने की प्रैक्टिस देखकर कोच अभिनाश दुबे ने उन्हें वेट लिफ्टिंग का प्रशिक्षण दिया और मेहनत के दम पर वह राष्ट्रीय खिलाडी बन गईं.