EBM News Hindi

UP सरकार ने पलटा फैसला, UP पुलिस में ड्यूटी जारी रखेंगे 25 हजार होमगार्ड;दीपावली पर बड़ा तोहफा

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के 25 हजार होमगार्ड को दीपावली पर बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने इन सभी को उत्तर प्रदेश पुलिस में अपनी ड्यूटी को जारी रखने का निर्देश दिया था। प्रदेश के होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान भी इस फैसले के बाद होमगार्ड के साथ खड़े थे।

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में 25 हजार होमगार्ड को दीपावली पर बड़ा तोहफा दिया है। उत्तर प्रदेश शासन ने पुलिस विभाग में ड्यूटी कर रहे 25 हजार होमगार्डो को गुरुवार को ड्यूटी जारी रखने का तोहफा दिया है।

बीती 12 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था और शांति व्यवस्था कायम करने के लिए पुलिस महकमे के बजट से लगाए गए 25 हजार होमगार्ड की सेवाएं लेने से पुलिस महकमे ने मना कर दिया है। एडीजी पुलिस मुख्यालय बीपी जोगदंड ने इस संबंध में आदेश जारी किया था। इसके बाद प्रदेश में खलबली मच गई। होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान को मोर्चा संभालना पड़ा। इस आदेश पर उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से वार्ता करने के साथ भरोसा दिलाया था कि होमगार्ड पुलिस विभाग में अपनी सेवाएं देते रहेंगे।

जोगदंड ने अपने आदेश में कहा था कि कानून व्यवस्था के दृष्टिगत पुलिस विभाग में रिक्तियों के सापेक्ष 25000 होमगार्ड की ड्यूटी लगाई गई थी। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में 28 अगस्त को हुई बैठक में इस ड्यूटी को समाप्त करने का निर्णय लिया गया था। इसी क्रम में पुलिस मुख्यालय प्रयागराज की ओर से आदेश जारी कर होमगार्ड की तैनाती तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई है। पुलिस के सिपाही के बराबर होमगार्ड को वेतन देने के न्यायालय के निर्देश के बाद प्रदेश में होमगार्ड का एक दिन का वेतन 500 रुपये से बढ़कर 672 रुपये हो गया था। इसका सीधा प्रभाव जिलों के बजट पर पड़ रहा था। इसी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। प्रदेश में होमगार्ड के पद 1 लाख 18 हजार हैं। इसमें से 19 हजार पद रिक्त हैं। बीते महीने 92 हजार होमगार्ड की ड्यूटी लगाई जा रही थी। उपलब्ध होमगार्ड की संख्या 99 हजार थी।