EBM News Hindi

Typhoon Lekima ने चीन में मचाई तबाही, अभी तक जा चुकी है 49 लोगों की जान

0

बीजिंग: चीन में इस साल के सबसे शक्तिशाली चक्रवात ‘लेकिमा’ की चपेट में आने से अभी तक 49 लोगों की जान जा चुकी है और अन्य 21 लोग लापता हैं. ‘लेकिमा’ चक्रवात इस साल चीन में आया नौवां और सबसे शक्तिशाली चक्रवात है.

वेनलिंग सिटी के झेजियांग प्रांत में शनिवार को ‘लेकिमा’ ने देर रात करीब पौने दो बजे (स्थानीय समयानुसार) दस्तक दी. इस दौरान 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलीं, और जोरदार बारिश हुई.

समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ की खबर के अनुसार चक्रवात के कारण सोमवार देर रात तक 49 लोगों की जान चली गई थी और कई लोग लापता थे.

अधिकारियों ने बताया कि इस प्राकृतिक आपदा से करीब 26 अरब युआन का नुकसान हो चुका है.

हिंसा से हांगकांग पतन के रास्ते पर जाएगा, जहां से वापसी संभव नहीं होगी: कैरी लैम

इसके अनुसार झेजियांग में करीब 66.8 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और इनमें से करीब 12.6 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है. इससे 2,34,000 हेक्टेयर की फसल बर्बाद हुई है, जिससे 24.22 अरब युआन (करीब 3.4 अरब अमेरिकी डॉलर) का नुकसान हुआ है.

‘लेकिमा’ बाद में रविवार सुबह करीब आठ बजकर 50 मिनट पर (स्थानीय समयानुसार) शैनडोंग प्रांत के किंगडाओ तट पर पहुंचा.

प्रांतीय आपात प्रबंधन विभाग ने बताया कि शैनडोंग में पांच लोगों की मौत हुई और सात लोग लापता हैं तथा 16.6 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं. चक्रवात की वजह से 183,800 लोगों को सोमवार सुबह सुरक्षित जगह पहुंचाया गया.

एयरपोर्ट में भरा बारिश का पानी, Video देख लोग बोले – ये है देश का सबसे खराब हवाईअड्डा

उत्तर पूर्वी प्रांत में 106,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है, 28 ट्रेन सेवाएं बाधित हुईं हैं और सभी प्रमुख पर्यटन स्थलों को बंद कर दिया गया है.

मरने वालों में अधिकतर योंगजिया काउंटी से हैं. वेनझू शहर योंगजिया काउंटी का प्रशासन देखता है, जहां भारी बारिश के कारण भूस्खलन होने से नदी का मार्ग अवरूद्ध हो गया है.

स्थानीय प्रशासन ने बताया कि 16 असैन्य बचाव टीमों ने लिनहाई में फंसे हुए लोगों को सुरक्षित निकाला.

सरकारी प्रसारक ‘सीसीटीवी’ की खबर के अनुसार चक्रवात के कारण करीब 3,200 उड़ानों को रद्द कर दिया गया है.

शंघाई बाढ़ नियंत्रण के अधिकारियों ने बताया कि चक्रवात के शंघाई की ओर बढ़ने के मद्देनजर शहर में रहने वाले 2,53,000 लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है.