EBM News Hindi

ट्रंप ने G7 के बाद ट्वीट कर यूरोप के साथ विश्वसनीय संबंध को तार-तार कर दिया : जर्मनी

फ्रैंकफर्ट: जर्मनी के विदेश मंत्री मेको मास ने रविवार(10 जून) को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जी- 7 सम्मेलन के बाद एक संयुक्त बयान से पीछे हट कर यूरोप के साथ विश्वसनीय संबंध को तार-तार कर दिया. मास ने कहा कि आप महज एक ट्वीट कर बहुत तेजी से विश्वास खो देते हैं. गौरतलब है कि ट्रंप ने आमराय वाले एक बयान के शब्दों को खारिज कर दिया था, जिसमें कहा गया था, ‘‘एकजुट यूरोप अमेरिका फर्स्ट का जवाब है. ’’ ट्रंप के इस कदम की रविवार(10 जून) को जर्मनी के राजनीतिक गलियारों में व्यापक निंदा की गई.

इस बीच, वाशिंगटन से प्राप्त खबर के मुताबिक व्हाइट हाउस के आर्थिक सलाहकार लैरी कुदलोव ने रविवार(10 जून) को कहा कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूदो ने जी – 7 सम्मेलन में हमारी पीठ में छुरा घोंपा. कुदलोव ने कहा कि अमेरिका को जस्टिन द्वारा संवाददाता सम्मेलन में दिए बयान पर ऐतराज है. उन्होंने कहा कि हम सद्भावना के साथ बयान में शामिल हुए थे. हालांकि, इसके बाद ट्रंप ने ट्वीट किया कि उन्होंने अमेरिकी प्रतिनिधियों को बयान को मंजूरी नहीं देने का निर्देश दिया है.

अमेरिका के शुल्क लगाए जाने के खिलाफ कार्रवाई करेगा कनाडा : ट्रुडो
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने एक जुलाई से अमेरिकी सामानों पर शुल्क लगाने की रविवार(10 जून) को बात कही. यहां जी 7 समूह देशों की बैठक के बाद उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चेतावनी देते हुए ट्रुडो ने कहा कि उनका देश (कनाडा) अमेरिका के शुल्क लगाए जाने के खिलाफ कार्रवाई करते हुए एक जुलाई से अमेरिकी सामान पर जवाबी शुल्क लगाएगा. ट्रुडो ने राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर इस्पात और एल्युमीनियम के आयात पर अमेरिका द्वारा शुल्क लगाए जाने के निर्णय की भर्त्सना की. उन्होंने इसे अमेरिका के सहयोगियों के साथ युद्ध में हिस्सा ले चुके कनाडाई सैन्य कर्मियों का ‘ अपमान ’ बताया.

ट्रंप ने जी7 सम्मेलन पर बरसाये ट्वीट बम
अमेरिका की राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दुनिया की अग्रणी औद्योगिक अर्थव्यवस्थाओं के समूह जी 7 के सम्मेलन के बाद जारी संयुक्त घोषाण पत्र को कुछ ही क्षण बाद झटके से खारिज कर दिया और मेजबान कनाडा पर बुरीतर अपमान जनक टिप्पणियां की. इस घटना से यह शिखर सम्मेलन सम्मेलन मजाक बनकर रह गया और वैश्विक व्यापार युद्ध की नयी आशंकाएं पैदा हो गयी हैं. कनाडा के क्यूबेक शहर में सम्मेलन के अमेरिका सहित सभी सदस्य देशों की सहमति से त य हुए संयुक्त बयान के जारी किए जाने के कुछ ही देर बाद ट्रंप ने अपने विशेष विमान एयरफोर्स – वन में बैठे – बैठे ट्विटर पर बयानबाजी शुरू कर दी.

ट्रंप इस बैठक में हिस्सा लेकर सुबह ही कनाडा से रवाना हुए थे. वह उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ ऐतिहासिक परमाणु शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने सिंगापुर जा रहे हैं. ट्रंप ने ट्वीट किया , ‘‘ मैंने संवाददाता सम्मेलन में जस्टिन के झूठे बयान और कनाडा द्वारा अमेरिकी किसानों , कामगारों और कंपनियों पर लगाये जा रहे भारी – भरकम शुल्कों को देखते हुए हमने अपने प्रतिनिधि को कहा है कि वे साझा बयान की पुष्टि नहीं करें क्योंकि हम अमेरिकी बाजार में भारी मात्रा में आ रहे वाहनों पर शुल्क लगाने पर विचार कर रहे हैं. ’’

उन्होंने लिखा, ‘‘कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने जी7 बैठक में दबे और सुलझे होने का नाटक किया ताकि वह उसके बाद वहां से मेरे प्रस्थान के बाद संवाददाता सम्मेलन में बोल सकें और कह सकें…. उन्हें कोई धमका नहीं सकता. बहुत ही बेइमान और कमजोर (व्यक्ति).’’

इनपुट भाषा से भी