EBM News Hindi

दक्षिण कोरिया का दावा- किम जोंग ट्रंप से मुलाकात के साथ परमाणु हथियार भी खत्म करेंगे

सोल: दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई ने रविवार(27 मई) कहा कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ औचक बैठक के लिए और कोरियाई प्रायद्वीप को पूरी तरह से परमाणु हथियरों से मुक्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा कि वे लोग अब भी सिंगापुर को वार्ता के लिए संभावित स्थान के तौर पर देखते हैं. उन्होंने कहा कि काफी सद्भावना है और कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियारों से मुक्त करना जरूरी है.

12 जून को होने वाली संभावित बैठक
राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि वह अब भी अपनी वार्ता के लिए सिंगापुर को एक संभावित स्थान के तौर पर देखते हैं. गौरतलब है कि 12 जून को होने वाली संभावित बैठक रद्द कर दी गई थी. वहीं, एएफपी की एक खबर के मुताबिक मून ने कहा है, ‘‘किम उत्तर कोरिया-अमेरिका के बीच सफल शिखर वार्ता के जरिए युद्ध और तनाव की स्थिति को समाप्त करना चाहते हैं और शांति और समृद्धि में सहयोग करना चाहते हैं.

मून ने कहा है कि वह और उत्तर कोरिया के नेता इस बात पर सहमत हुए हैं कि अगर ‘जरूरत पड़ी’ तो वह व्यक्तिगत रूप से मिलेंगे, या बात करेंगे. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने किम के साथ अपनी बैठक रद्द करने की घोषणा करके दुनिया भर को चौंका दिया था. लेकिन इस घोषणा के 24 घंटे के भीतर ही उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया के अधिकारियों से बातचीत के बाद लगा कि अब भी यह शिखर वार्ता हो सकती है.

उत्तर कोरिया से बातचीत चाहते हैं डोनाल्ड ट्रंप, किम से मिलने की तारीख-जगह में बदलाव नहीं
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार (27 मई) को कहा कि वह उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ 12 जून को सिंगापुर में शिखर वार्ता को लेकर आशान्वित हैं और स्थितियां अनुकूल हो रही हैं. व्हाइट हाउस में ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम 12 जून को सिंगापुर में होने वाली शिखर वार्ता को लेकर आशान्वित हैं. इसमें बदलाव नहीं आया है. यह बहुत अच्छी तरह से चल रहा है, ऐसे में हम देखेंगे कि क्या होता है.’’ उनकी यह टिप्पणी शनिवार (26 मई) को विसैन्यीकृत क्षेत्र में किम और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई-इन के बीच अचानक मुलाकात के बाद सामने आयी है. इस मुलाकात में दोनों नेताओं ने अमेरिका के साथ शिखर वार्ता पर चर्चा की थी.

इनपुट भाषा से भी