EBM News Hindi

ऋद्धिमान साहा ने बताया फाइनल में जाने का मंत्र, कहा- हमें केवल इतना करना है

कोलकाता : आईपीएल के सीजन 11 के क्वालिफायर 2 मैच से पहले हैदराबाद की टीम अपनी लगातार हार का सिलसिला तोड़ने को बेताब है.  चार लगातार हार के बाद एक तरह स ‘सेमीफाइनल’ में उतर रही हैदराबाद के विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा का मानना है कि शुक्रवार को होने वाले मैच में कोलकाता के खिलाफ मैच का रुख बदलन के लिए उनकी टीम को दो-तीन अच्छे ओवरों की जरूरत होगी.

दोनों टीमें यहां के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में आमने-सामने होंगी. इस मैच को जीतने वाली टीम फाइनल में रविवार को चेन्नई से भिड़ेगी. चेन्नई ने पहले क्वालिफायर में हैदराबाद को ही हरा कर फाइनल में जगह हासिल की थी. वहीं कोलकाता ने एलिमिनेटर मैच में राजस्थान को 25 रनों से हराकर क्वालिफायर 2 के लिए जगह बनाई थी.

मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में साहा ने कहा, “हम अतीत को भूल चुके हैं. हमसे कहा गया है कि हम आखिरी मैच भूल जाएं और अगले मैच के लिए तैयार रहें. हम चार हारों के बारे में नहीं सोच रहे हैं. हम जानते हैं कि दो-तीन अच्छे ओवर टी-20 में खेल को पलट सकते हैं.”

हैदराबाद इस सीजन में प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली टीम बनी थी, लेकिन पिछले मैचों में उसे बेंगलुरु, कोलकाता, चेन्नई (दोबार) के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है. साहा ने कहा कि कोलकाता का लगातार चार मैच जीतना उनकी टीम के लिए मायने नहीं रखता क्योंकि उनकी टीम किसी भी परिस्थिति में खेलने को तैयार है.

उन्होंने कहा, “हमने अच्छी शुरुआत की थी. हम इसलिए नहीं जीत सके कि हमने मैच अच्छे से खत्म नहीं किए. हम कल (शुक्रवार को) जीतने के लिए खेलेंगे.”

ईडन गार्डन्स की पिच पर कोलकाता की स्पिन तिगड़ी सुनील नरेन, कुलदीप यादव और पीयूष चावला हैदराबाद के लिए खतरनाक साबित हो सकती है, लेकिन साहा ने कहा कि राशिद खान, शाकिब अल हसन जैसे गेंदबाजों के रहते हैदराबाद हर स्थिति से निपटने में सक्षम है.

उन्होंने कहा, “हम परिस्थितियों पर नहीं निर्भर कर रहे हैं. यह भी हो सकता है कि विकेट अलग व्यवहार करे. हम हर स्थिति के लिए तैयार हैं. हमने उनके खिलाफ काफी मैच खेले हैं. हम उनकी गेंदबाजी के तरीकों को जानते हैं. अंतत: हमें मैदान पर अच्छा प्रदर्शन करना है.”

 कोलकाता टीम फॉर्म में है
इस समय कोलकाता के गेंदबाज शानदार फॉर्म में हैं. प्रसिद्ध कृष्णा ने डेथ ओवर में शानदार गेंदबाजी की है, वहीं कोलकाता के स्पिनर्स पीयूष चावला, सुनील नरेन और कुलदीप यादव भी बढ़िया गेंदबाजी कर रहे हैं. हालांकि कोलकाता को अपने उच्च क्रम के बल्लेबाजों की जरूर चिंता होगी, लेकिन कप्तान दिनेश कार्तिक और आंद्रे रसल का बढ़िया फॉर्म उनकी एक ताकत बनके उभरा है.

वहीं हैदराबाद की टीम की बल्लेबाजी तो खराब नहीं तो ठीक भी नहीं है. टीम केवल कप्तान केन विलियमसन पर निर्भर ज्यादा होती जा रही है. विलियमसन चाहेंगे कि टीम के बाकी बल्लेबाजों का बल्ला इस मैच में जरूर बोले. लेकिन विलियमसन कि चिंता उनके गेंदबाजों की डेथ ओवर्स में नाकामी है जिसकी वजह से पिछले मैच में उनकी टीम को चेन्नई के हाथों से हार का सामना करना पड़ा था. जबकि बाकी मैच में हैदराबाद ही हावी रही थी.