EBM News Hindi

राजनाथ ने की कोरोना महामारी की तैयारियों की समीक्षा, कोरोना को हराने के लिए बनी रणनीति

0

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस महामारी की तैयारियों के साथ ताजा हालात को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक हुई। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सहित अन्य वरिष्ठ मंत्री शामिल हुए।

सरकारी सूत्रों के मुताबिक बैठक में यह तय किया गया कि प्रवासियों को रहने के लिए अस्थायी आश्रय प्रदान किया जाएगा। बैठक के दौरान विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की ओर से बैठक में जानकारी रखी गई।

मंत्रिस्तरीय समूह की बैठक में कोविड-19 पर हुई चर्चा

सूत्रों ने बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर आयोजित मंत्रिस्तरीय समूह की बैठक में मंत्रियों ने कोविड-19 से संबंधित सभी मुद्दों पर चर्चा हुई, जिसमें खाद्य, दवा, ऊर्जा उत्पादों आदि जैसे आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बनाए रखना शामिल है। समीक्षा बैठक में आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई चेन बनाये रखने पर जोर दिया गया। पेट्रोलियम उत्पादों के साथ अन्य जरूरत के सामान की उपलब्धता पर बराबर नजर रखने की बात कही गई।

कोरोना वायरस के बढ़ने को लेकर सरकार ने बनाई रणनीति 

आने वाले दिनों में कोरोना वायरस के बढ़ने की संभावना पर भी चर्चा करते हुए उसके लिए होने वाली तैयारियां की रणनीति बनाई गई।

लॉकडाउन के कारण बाधित वस्तुओं की ढुलाई पर लगी रोक हटी

लॉकडाउन के कारण बाधित वस्तुओं की ढुलाई पर अब रोक हट गई है। अब तक सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की ढुलाई को अनुमति दी गई थी। सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को लिए गए पत्र में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि प्रिंट मीडिया वितरण व प्रसारण से जुड़े सभी चेन इसमें आते हैं। यानी इंक, प्लेट्स, न्यूजप्रिंट से लेकर हाकर्स तक इसकी श्रेणी में आएंगे। पिछले दिनों में यूं तो कई आवश्यक वस्तुओं की ढुलाई का निर्देश था।

प्रिंट मीडिया भी आवश्यक सेवा मे शामिल है लेकिन इससे जुड़ी कई सामग्री की ढुलाई में मुश्किलें आ रही थी। यहां तक कि हाकर्स को अनुमति मिलने में परेशानी होने के कारण वितरण में मुश्किलें थी। जबकि सरकार के साथ विशेषज्ञों की ओर से बार-बार कहा जा रहा है कि अखबार सुरक्षित हैं। इससे संक्रमण का खतरा नहीं है। बहरहाल, रविवार को मुख्य सचिवों को जारी पत्र में गृह सचिव ने साफ साफ कहा कि प्रिंट मीडिया के सप्लाई चेन में जुड़ी सभी चीजों की ढुलाई पर कोई रोक नहीं है।