EBM News Hindi

PPF: पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश से पहले जान लीजिए एलिजिबिलिटी, ब्याज दर और मेच्योरिटी से जुड़ी खास बातें

नई दिल्ली। कोरोना संकट के इस काल में हर कोई निश्चित आमदनी वाले फंड में निवेश करना चाहता है। गारंटीड रिटर्न वाले फंड की बात की जाए तो पीपीएफ ऐसी स्कीम में शामिल है जिस पर कई अन्य फंड्स की तुलना में ज्यादा ब्याज मिलता है। इस वजह से पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) देश में सबसे लोकप्रिय सेविंग फंड्स में से एक है। पब्लिक प्रोविडेंट फंड 15 साल की निवेश योजना है। साथ ही यह स्कीम एक्जेम्ट, एक्जेम्ट, एक्जेम्ट की श्रेणी में आता है। इसका मतलब है कि इस योजना में निवेश, ब्याज से होने वाली आय और पैसे की निकासी पर आपको टैक्स छूट का लाभ मिलता है।

आइए जानते हैं कि आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं या नहीं। आपको इस योजना पर कितना ब्याज मिलता है और इस योजना में आप किस अवधि तक निवेश कर सकते हैं।

पात्रताः आप अपने नाम पर या किसी नाबालिग के अभिभावक के रूप में पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकते हैं।

निवेश की सीमाः वर्तमान में पीपीएफ अकाउंट में न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये का सालाना निवेश किया जा सकता है। आप अधिकतम 12 ट्रांजैक्शन के जरिए निवेश कर सकते हैं। हालांकि, यह ध्यान रखने वाली बात यह है कि पीपीएफ खाते में सालाना 1.5 लाख रुपये का निवेश करते हैं तो अतिरिक्त राशि पर आपको किसी तरह का ब्याज नहीं मिलता है और ना ही इस राशि पर इनकम टैक्स में छूट मिलती है।