EBM News Hindi

PM मोदी को पत्र लिखने वाले 49 कलाकारों पर दर्ज देशद्रोह का मुकदमा खारिज, याचिकाकर्ता पर FIR

मुजफ्फरपुर [जेएनएन]। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को पत्र लिखने वाले 49 फिल्‍मी कलाकारों व बुद्धिजीवियों के खिलाफ राजद्रोह (Sedition) के मुकदमे को पुलिस जांच में झूठा पाया गया है। मुजफ्फरपुर के एसएसपी मनोज कुमार ने उनके खिलाफ दर्ज राजद्रोह के मामले को बंद करने का आदेश दिया। साथ ही मामला दर्ज करने वाले अधिवक्‍ता सुधीर ओझा के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज करने को ले प्राथमिकी (FIR) दर्ज करने का आदेश दिया।

अधिवक्‍ता ने मुकदमा में लगाए ये आरोप

विदित हो कि देश में भीड़ की उन्मादी हिंसा (Mob Lynching) को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को अभिनेत्री अपर्णा सेन (Aparna Seb) समेत 49 फिल्मी कलाकारों और बुद्धिजीवियों ने पत्र लिखा था। इसके खिलाफ अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा (Sudhir Kumar Ojha) ने 27 जुलाई 2019 को मुजफ्फरपुर के मुख्‍य न्‍यायिक दंडाधिकारी (CJM) की अदालत में मुकदमा दर्ज किया। सुनवाई के बाद सीजेएम ने सदर थानाध्यक्ष को प्राथमिकी (FIR) दर्ज कर मामले की जांच का आदेश दिया।

दर्ज एफआइआर में अभिनेत्री अर्पणा सेन, अडूर गोपाल कृष्णन, सुमित्रा चटर्जी, रेवती, कोंकणा सेन, श्याम बेनेगल, मणिरत्म, शुभा मुद्गल, व इतिहासकार रामचंद्र गुहा आदि के खिलाफ देश व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को खराब करने के आरोप लगाए गए। यह आरोप भी जगाया गया कि आरोपितों की मंशा देश को टुकड़े- टुकड़े करने एवं वैमनस्यता फैलाने की थी।