EBM News Hindi

मनाली में हुई मौसम की पहली बर्फबारी, पारा शून्य से नीचे लुढ़का

मनाली. हिमाचल प्रदेश में मौसमका मिजाज एक बार फिर बदल गया है. इस बीच मनाली में इस मौसम की पहली बर्फबारी  देखने को मिली है. इस दौरान मनाली शहर में कई जगह दो इंच की सफेद चादर बिछ गई. हालांकि अधिकांश जगह इसका असर कम दिखाई दिया. इसके अलावा पलचान, सोलंग और कोठी गांव में आधा फीट से अधिक बर्फबारी हुई है. वहीं, गुलाबा, धुंधी, अंजनी महादेव, फातरु और अटल टनल की ओर आठ इंच बर्फ गिरी है. इससे पहले मौसम विभाग ने 6 दिसंबर तक हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया था. यही नहीं, हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति घाटी में पिछले कई दिनों से जबरदस्त बर्फबारी जारी है और अब तक दो ईंच से 5 इंच तक  सफेद चादर बिछ चुकी है.

वहीं, पहाड़ों पर हुई इस बर्फबारी से पर्यटन कारोबारियों के चेहरे भी खिल गये हैं. इसके साथ उन्हें क्रिसमस और न्यू ईयर के दौरान अच्छे व्यवसाय की उम्मीद बढ़ गई है. बर्फबारी को देखते हुए पर्यटक आज मनाली और नेहरुकुंड के आसपास ही बर्फ का आनंद लेंगे, क्‍योंकि आगे जाने का रास्‍ता बंद हो जाता है.

वहीं, मनाली में बर्फबारी के बाद लोग मस्‍ती करते नजर आए, लेकिन जन जीवन सामान्य है. जबकि लाहुल घाटी में जन जीवन प्रभावित हुआ है और लोग घरों में कैद हो गए हैं. वहीं, बर्फबारी से पारा माइनस में चला गया है और ठंड भी बढ़ गई है. फिलहाल रोहतांग सहित लाहुल और मनाली की चोटियां बर्फ से लद गई हैं. बता दें कि इस साल रोहतांग दर्रे में 6 दिसंबर को पहली बर्फबारी हुई थी और इस वक्‍त करीब डेढ़ फीट बर्फ जमी हुई है.

एसडीएम मनाली डाक्टर सुरेंद्र ठाकुर ने कहा कि बर्फबारी को देखते हुए आज पर्यटकों को नेहरुकुंड पर्यटन स्थल तक ही जाने की अनुमति रहेगी. वहीं, लाहुल स्पीति के उपायुक्त नीरज कुमार के मुताबिक, लाहुल स्पीति में बर्फबारी का दौर जारी है, जिससे सभी वाहनों के पहिये जाम हो गए हैं. इसके साथ उन्होंने लोगों से हालात सामान्य होने तक घरों से बाहर न निकलने की अपील की है. इस बीच एचआरटीसी ने कुल्‍लू और मनाली के लिए केलांग और उदयपुर से चलने वाली बसों को बंद कर दिया है.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.