EBM News Hindi

NIA ने पाकिस्‍तानी हाईकमीशन की खोली पोल, कश्‍मीर में अशांति फैलाने के लिए देता था पैसा

नई दिल्‍ली, एएनआइ। राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए (National Investigation Agency, NIA) को कश्‍मीर में हिंसा भड़काने के पीछे पाकिस्‍तान की गहरी साजिश के बारे में पता चला है। आतंकी फंडिंग के मामले में एनआईए ने तीन हजार पन्‍नों का पूरक आरोप पत्र दाखिला किया है। पूरक आरोप पत्र में एजेंसी ने पाकिस्‍तानी उच्‍चायोग की भूमिका का भंडाफोड़ किया है। एजेंसी की ओर से आरोप पत्र में दावा किया गया है कि कश्‍मीर में अशांति फैलाने के लिए खुद पाकिस्‍तानी हाईकमीशन ने अलगाववादियों का समर्थन किया था।

साल 2017 के टेरर फंडिंग केस और आतंकी सरगना हाफ‍िज सईद से जुड़े इस मामले में एनआईए ने दिल्‍ली कोर्ट में तीन हजार पन्‍नों का पूरक आरोप पत्र जम्‍मू-कश्‍मीर लिबरेशन फ्रंट के प्रमुख यासीन मलिक और चार अन्‍य कश्‍मीरी अलगाववादियों के खिलाफ दाखिल किया। एजेंसी ने इस आरोप पत्र में दावा किया है कि पाकिस्‍तानी उच्‍चायोग ने कश्‍मीर घाटी में अशांति फैलाने के लिए धन मुहैया कराने के लिए अलगाववादियों का समर्थन किया था।

एजेंसी की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि इस आरोप पत्र में यासीन मलिक के अलावा, आस‍िया आंद्राबी (Syeda Aasiya Andrabi), शब्‍बीर शाह, मसरत आलाम भट्ट (Masarat Alam) और जम्‍मू-कश्‍मीर के आवामी इत्‍तेहाद पार्टी के चेयरमैन अब्‍दुल राशिद शेख का नाम भी शामिल है। एजेंसी ने कहा है कि सबूत इस बात की तस्‍दीक करते हैं कि पाकिस्‍तानी उच्‍चायोग ने अलगाववादियों का समर्थन कश्‍मीर को अशांत कराने के लिए किया था।