EBM News Hindi

हॉकी को बनाया जाए राष्ट्रीय खेल, ओडिशा के CM की PM मोदी से अपील

नई दिल्ली: ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि हॉकी को आधिकारिक रूप से भारत का राष्ट्रीय खेल घोषित कर दिया जाए. मुख्यमंत्री पटनायक ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि, हॉकी को पहले से ही भारत के अनाधिकारिक रूप से राष्ट्रीय खेल का दर्जा प्राप्त है, लेकिन अब इसे आधिकारिक तौर पर मान्यता दे दी जाए. बता दें कि इस साल नवंबर में ओडिशा हॉकी वर्ल्ड कप की मेजबानी कर रहा है.

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा है. उन्होंने लिखा- जैसा कि आप जातने हैं सर, अगला हॉकी वर्ल्ड कप नंबवर में इसी साल ओडिशा में होने जा रहा है. इस कार्यक्रम की तैयारियां करते हुए मैं इस बात से हैरान हुआ कि हॉकी की प्रसिद्धि राष्ट्रीय खेल के तौर पर है. जबकि यह सभी जानते हैं कि आधिकारिक तौर पर हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल नहीं है.”

उन्होंने आगे लिखा- ”इसलिए मुझे यकीन है कि आप भी देश के करोड़ों फैन्स के साथ सहमत होंगे कि हॉकी को राष्ट्रीय खेल का दर्जा दिया जाना चाहिए. यह उन महान हॉकी खिलाड़ियों के लिए श्रद्धांजलि होगी जिन्होंने देश को गर्व करने का मौका दिया है.”

बता दें कि 28 नवंबर से 16 दिसंबर तक चलने वाले पुरुष हॉकी विश्व कप का आयोजन ओडिशा में किया जा रहा है. विश्व कप में कुल 36 मैच खेले जाएंगे. पहले मैच में बेल्जियम का मुकाबला कनाडा से होगा. हॉकी विश्व कप के सारे मैच भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले जाएंगे. इस स्टेडियम की अभी मरम्मत जारी है, जो टूर्नामेंट के आयोजन से पहले पूरी हो जाएगी. इस स्टेडियम में एक समय पर कुल 16,000 दर्शक बैठ सकेंगे.

हॉकी विश्व कप भारत आसान पूल में
ओडिशा में आयोजित होने वाले पुरुष हॉकी विश्व कप-2018 के लिए मेजबान भारत को पूल-सी में कनाडा, दक्षिण अफ्रीका और बेल्जियम के साथ शामिल किया गया है. अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने बुधवार को हॉकी विश्व कप के लिए टीमों के समूहों की घोषणा कर दी है. इस टूर्नामेंट में पूल चरण के मुकाबले 28 नवम्बर से नौ दिसम्बर तक खेले जाएंगे. ऐसे में हर दिन कलिंगा स्टेडियम में दो मैच खेले जाएंगे.

पहला मैच शाम पांच बजे और दूसरा मैच सात बजे खेला जाएगा. पूल चरण में भारत की पहली भिड़ंत 28 नवम्बर को वर्ल्ड नम्बर-15 दक्षिण अफ्रीका से होगी. इसके बाद, भारत का सामना दो नवम्बर को वर्ल्ड नम्बर-3 और रियो ओलम्पिक में कांस्य पदक विजेता बेल्जियम से, आठ दिसम्बर को वर्ल्ड-11 कनाडा को होगा.