EBM News Hindi

मुरली विजय ने अपने रिकॉर्ड शतक का इस ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज को दिया श्रेय

बेंगलुरू : भारत और अफगानिस्तान के बीच खेले जा रहे ऐतिहासिक पहले टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को मुरली विजय ने इस मैच में शानदार बल्लेबाजी करते हुए शतक जमाया. मुरली विजय ने शिखर धवन के साथ ने पहले विकेट के लिए 168 रनों की साझेदारी की. विजय ने अपनी इस सफलता का श्रेय ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज माइकल हसी को दिया. हालाकि मुरली को इस साल के आईपीएल मुकाबलों खेलने के मौके नहीं मिले वे केवल एक ही मैच खेल सके थे.

मुरली ने कहा, “मैंने अपनी बल्लेबाजी पर काफी मेहनत की है. मैंने आईपीएल के दौरान हसी के साथ काम किया है. मैं इसके लिए उनका धन्यवाद देना चाहता हूं.” उन्होंने कहा, “आपको अपनी रणनीति पर टिके रहना पड़ता है. शिखर ने शानदार बल्लेबाजी की.” अफगानिस्तान के बारे में विजय ने कहा, “मुझे व्यक्तिगत तौर पर लगता है कि अफगानिस्तान ने अपनी क्रिकेट का लुत्फ उठाया और दिन का अच्छा अंत किया.”

अफगानिस्तान के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को पहले सत्र में शतक लगाने वाले भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर शिखर धवन ने कहा कि उनके लिए यह शानदार अनुभव था. इस शतक को लगाने के बाद शिखर पहले सत्र में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बन गए थे.

यह अफगानिस्तान का पहला अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच है. भारत के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी और धवन ने पहले सत्र में ही शतक लगा दिया. इसके बाद मुरली विजय ने तीसरे सत्र में अपना शतक पूरा किया जबकि इस दौरान उनके साथी धवन और लोकेश राहुल तेजी से रन बना रहे थे.

12वां टेस्ट शतक था यह मुरली विजय का
मुरली विजय का 57 टेस्ट मैचों में 12वां टेस्ट शतक है. इनमें 97 पारियों में वे 40.70 के औसत और 46.67 के स्ट्राइक रेट से वे 3907 रन बना चुके हैं. वहीं मुरली ने अब तक केवल 17 अंतरराष्ट्रीय वनडे खेले हैं जिनमें 16 पारियों में 21.19 की औसत और 67 के स्ट्राइक रेट से वे 339 रन बना चुके हैं इसी तरह उन्होंने केवल 9 अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच खेले हैं जिनमें 109.74 के स्ट्राइक रेट से वे 169 रन बना चुके हैं. लेकिन 101 आईपीएल में वे 2523 रन बना चुके हैं जिनमें 2 शतक शामिल हैं. यहां उनका स्ट्राइक रेट 123.37 रहा है. साल 2010 के आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए मुरली विजय ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 127 रनों की पारी खेली जो उस टूर्नामेंट का सर्वाधिक निजी स्कोर था. हालांकि इस आईपीएल 2018 में उन्हें ज्यादा मौके नहीं मिले. वे केवल एक ही मैच खेल सके जिसमें उन्होंने केवल 12 रन बनाए थे.

रणजी रिकॉर्ड रहा है शानदार
तमिलनाडू की ओर से खेलने वाले मुरली विजय का रणजी ट्रॉफी में भी शानदार रिकॉर्ड रहा है जिसकी वजह से ही उनका चयन टीम इंडिया में हुआ था. 17 साल की उम्र में ही जूनियर लेवल पर खेलते हुए उन्होंने अभिनव मुकुंद के साथ मिलकर 462 रनों की रिकॉर्ड पार्टनरशिप की थी जो कि विश्व रिकॉर्ड से केवल 2 रन कम थी लेकिन इस प्रदर्शन की बदौलत उन्हें टीम इंडिया के लिए पहला टेस्ट खेलने का मौका जरूर मिल गया था. उन्होंने पहला टेस्ट नागपुर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था. विजय अपनी बेहतरीन फील्डिंग के लिए भी जाने जाते हैं.