EBM News Hindi

VIDEO : नेमार, मेसी और रोनाल्डो को भी पीछे छोड़ा इस रूसी खिलाड़ी ने

सेंट पीटर्सबर्ग : ईरान फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण में अपने पहले मैच में मोरक्को के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगी. दोनों टीमें ग्रुप-बी के पहले मैच में सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में एक दूसरे के सामने होंगी. ईरान अपने स्टार खिलाड़ी सइद एजातोलाही के बिना मैदान पर उतरेगी. उन पर दो मैचों का प्रतिबंध है. इससे पहले, शुरुआती मैच में मेजबान रूस ने ग्रुप ए के मैच में साऊदी अरब को 5-0 से करारी मात देते हुए टूर्नामेंट का धमाकेदार आगाज किया.

फीफा की अनुशासन समिति ने पिछले साल 31 अगस्त को सियोल में दक्षिण कोरिया के खिलाफ खेले गए क्वालीफाइंग मैच के दौरान नियमों का उल्लंघन करने को लेकर अक्टूबर में एजातोलाही पर दो मैचों का प्रतिबंध लगा दिया था. ईरान को हालांकि विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने में बिल्कुल परेशानी नहीं हुई. एशियाई क्वालीफाइंग के दूसरे और तीसरे दौर में तो वो बिल्कुल आसानी से पार हो गई. 18 क्वालीफाइंग मैचों में उसने सिर्फ पांच गोल खाए. मेहदी तारेमी तथा अक्षण डेजागह की चोट भी उसके लिए परेशानी का सबब है. मोरक्को नाबिल दिरार के फिट होने की उम्मीद लगाए बैठा है.

यह ईरान का पांचवां विश्व कप है, लेकिन अभी तक ग्रुप स्टेज को पार करना उसके लिए चुनौती बना हुआ है. उसकी कोशिश है कि वह इस बार अगले दौर में जगह बना ले लेकिन पुर्तगाल, स्पेन और मोरक्को के रहते हुए उसकी यह आस पूरी होने बेहद मुश्किल लग रहा है.

शानदार रिकॉर्ड है मोरक्को का इस साल
वहीं मोरक्को पिछले 18 मैचों से अपराजित है. फीफा रैंकिंग में 42वें नंबर पर काबिज मोरक्को एकमात्र ऐसी टीम है जिसने विश्व कप के अपने क्वालीफाइंग अभियान के दौरान छह मैचो में एक भी गोल नहीं खाया था. टीम ने पिछले साल गेबन को 3-0 से मात देकर 20 साल बाद विश्व कप के लिए क्वालीफाई किया था. इतिहास के लिहाज से मोरक्को का पलड़ा जरूर भारी लगता है लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि इस मैच का एक तरफा होना आसान नहीं होगा. कम से कम रूस और साऊदी अरब के बीच हुए मैच के जैसा परिणाम आने की संभावना तो नहीं हैं. लेकिन यह बात भी काबिलेगौर है कि किसी ने भी रूस और साऊदी अरब के बीच होने वाले इस मैच के इस तरह के नतीजे आने की उम्मीद नहीं की थी.

टीमें :

मोरक्को : गोलकीपर- मुनीर अल कजौरी, यासिन बौनु, अहमद रेदा टगनौती.

डिफेंडर- मेधी बनेटिया, रोमैन सैस, मैनुअल डी कोस्टा, बद्र बेनौन, नबील दिरार, अशरफ हकीमी, हमजा मेंडील.

मिडफील्डर- मर्बक बौसोफा, करीम अल अहमदी, यूसुफ इत बेनासर, सोफयान अमराबत, यूनीस बेलहंदा, फैसल फज्र, अमिने हेरीत

फारवर्ड- खालिद बौतीब, अजीज बौहाडुज, अयुब अल काबी, नोर्दिन अमराबत, मेहदी सार्सिला, हाकिम जियेक.

ईरान :

गोलकीपर : ए. बेइरानवांड, राशिद, अबेदजादेह.

डिफेंडर : हाजी साफी, आर. चेश्मी, एम.मोहम्मदी, एम.पाउरालिगांजी, एम.आर. खानजादेह, पी.मोंटाजेरी, एम.हुसैनी, रामिन.

मिडफील्डर : एम.तोराबी, एस. इजातोलाही, शोजेई. एम, ओमिड, वी. अमिरी,

फॉरवर्ड : करीम, घोडोस, रेजा, मेहदी, ए. जाहांबख्श, सरदार, देजगाह.

इससे पहले टूर्नामेंट का पहला गोल दागने के लिए रूस ने केवल 12 मिनट का समय लिया. बाएं छोर पर मौजूद मिडफील्डर एलेक्जेंडर गोलोविन ने बॉक्स के बाहर से क्रॉस दिया जिस पर शानदार हेडर लगाकर युरी गाजिंस्की ने अपने देश को 1-0 की शुरुआती बढ़त दिला दी.

एक गोल की बढ़त बनाने के बाद रूस के खेल में अधिक आक्रामकता देखने को मिली और सऊदी अरब के खिलाड़ी मेजबान टीम की तेजी एवं शारीरिक शक्ति के कारण मुश्किल में नजर आए. पहला गोल दागने के तीन मिनट बाद रूस ने अपनी बढ़त को बढ़ाने का प्रयास किया लेकिन मेहमान टीम के गोलकीपर ने अब्दुल्ला अल-मयूफ ने बेहतरीन बचाव किया. सऊदी अरब ने गेंद पर अधिक समय कब्जा बनाए रखा लेकिन रूस के खिलाड़ी कई मौकों पर विपक्षी टीम की डिफेंस को भेदने में कामयाब रहे.

चोटिल ड्झागोव की जगह आए थे चेरिशेव
22वें मिनट में मेजबान टीम को बड़ा झटका लगा और एलन ड्झागोव के मांसपेशियों में खिंचाव आया जिसके कारण उन्हें मैदान से बाहर जाना पड़ा.
ड्झागोव की जगह मिडफील्डर डेनिस चेरीशेव मैदान में आए और पहला हाफ समाप्त होने से दो मिनट पहले (43वें मिनट) बॉक्स के अंदर सऊदी अरब के तीन डिफेंडर को छकाते हुए रूस के लिए मैच का दूसरा गोल किया.

दूसरे हाफ में भी सऊदी अरब ने अधिक समय तक गेंद अपने पास रखा लेकिन वह मैच पर नियंत्रण रखने में कामयाब नहीं हो पाए. मेजबान टीम की डिफेंस एवं गोलकीपर इगोर एकिन्फीव को पूरे मैच में कोई खास पेरशानी नहीं हुई. रूस ने मिडफील्ड में भी सऊदी अरब पर दबाव बनाया रखा और मैच के 71वें मिनट में लंबे कद के स्ट्राइकर अर्टयोम डज्युबा ने हेडर से गोल करते हुए मेजबान टीम को 3-0 से आगे कर दिया.

मैदान में बैठे मेजबान टीम के प्रशंसक 3-0 से मिलने वाली जीत का जश्न बना रहे थे, लेकिन इंजुरी टाइम में चेरीशेव (91वें मिनट) एवं गोलोविन (94वें) ने गोल कर रूस की 5-0 से सुनिश्चित कर अपने प्रशंसकों की खुशी को दोगुना कर दिया. लेकिन खेल प्रशंसकों को पहले ही मैच में एक बेहतरीन गोल देखने को मिला जो अभी सबसे बढ़िया गोल हो गया है.

(इनपुट आईएएनएस)