EBM News Hindi

मोहनपुर ब्लॉक बाल विवाह और बाल श्रम से मुक्त होगा

मोहनपुर : बच्चों के सुरक्षा और संरक्षण के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से जवाहर ज्योति बाल विकास केन्द्र के द्वारा मोहनपुर प्रखंड में संचालित चाइल्ड लाइन परियोजना की प्रखंड स्तरीय चाइल्ड लाइन सलाहकार परिषद की बैठक का आयोजन प्रखंड विकास पदाधिकारी रामपुकार यादव की अध्यक्षता में मोहनपुर प्रखंड मुख्यालय स्थित प्रखंड सूचना भवन में किया गया। बैठक का संचालन प्रभारी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी मधुप्रियदर्शिनी नें किया। बैठक को संबोधित करते हुए सुरेन्द्र कुमार, जवाहर ज्योति बाल विकास केन्द्र, अख्तियारपुर के सचिव-सह-निदेशक, चाइल्ड लाइन, समस्तीपुर सब सेंटर पटोरी नें बताया कि बच्चों के सम्पूर्ण अधिकारों की सुरक्षा और संरक्षण के लिए चाइल्ड लाइन समर्पित है। संयुक्त राष्ट्र बाल अधिकार घोषणापत्र का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि शून्य से अठारह वर्ष का कोई भी व्यक्ति कानूनन बच्चा है। चाइल्ड लाइन सब सेंटर पटोरी की टीम लीडर माला कुमारी, टीम मेम्बर कौशल कुमार, ललिता कुमारी, रविन्द्र पासवान एवं दिनेश प्रसाद चौरसिया नें संयुक्त रूप से बताया कि यदि चाइल्ड लाइन परियोजना को सभी संबंधित सरकारी विभाग का सहयोग और समर्थन समय समय पर मिलता रहे तो बाल विवाह और बाल श्रम को रोक पाना संभव होगा और बच्चों का जीवन खुशहाल बनेगा। अंचल पदाधिकारी चंद्रकांत सिंह नें कहा कि बाल विवाह बच्चियों के जीवन की त्रासदी है। मोहनपुर ओपी के बाल कल्याण पदाधिकारी अनुज कुमार चौधरी नें बताया कि बच्चों के मामले में तत्काल प्रशासनिक पहल से हीं उनको सुरक्षा देना संभव होता है। नेहरू युवा केन्द्र, समस्तीपुर के राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक केशव मनोहर नें बताया कि बच्चों को समय पर स्कूल में जोड़ना और उसे नियमित कराये जाने से बाल श्रम और बाल विवाह के साथ बाल यौन शोषण या बाल व्यापार को रोका जा सकता है। जिसमें बच्चों के माता-पिता की कोशिश ज्यादा कारगर साबित होगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, मोहनपुर के चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ विकाश कुमार नें बताया कि लावारिश नवजात शिशु तथा यौन शोषण के केस में समुचित चिकित्सीय सुविधा देने के लिए हमारी टीम समर्पित है। धरणीपट्टी पूर्वी के वार्ड नं 8 के वार्ड सदस्य फुच्चीलाल साहनी नें बताया कि विपरीत परिस्थितियों में सामाजिक सहायता मिलने में होने वाले विलम्ब से खतरा बढ़ जाता है। जीविका समूह, सरारी की संगीता कुमारी नें कहा कि पंचायत प्रतिनिधियों को संवेदनशील करने तथा बाल संरक्षण समिति को सशक्त बनाने के लिए सकारात्मक पहल करने की आवश्यकता है। चाइल्ड लाइन, समस्तीपुर कोलैब से आयी काऊन्सेलर निशु कुमारी व अवधेश कुमार नें बताया कि वार्ड, गाँव और प्रखंड स्तर पर बनें बाल संरक्षण समिति सदस्यों का संवेदनशील होना हीं खतरा को कम करता है। मोहनपुर की उप प्रमुख मिलन देवी नें कहा कि बालिकाओं के मामले में यथाशीघ्र चिकित्सीय परामर्श आवश्यक है। श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी राजेश कृष्णन, सामाजिक कार्यकर्ता विश्वनाथ राम व रंजीत कुमार नें अपने विचार रखे। प्रखंड स्तरीय चाइल्ड लाइन सलाहकार परिषद के अध्यक्ष सह प्रखंड विकास पदाधिकारी रामपुकार यादव नें सभी आगत सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि हम सब मिल कर संवेदनशीलता के साथ मिल-जुल कर काम करेंगे तो हमारा मोहनपुर प्रखंड बाल विवाह और बाल श्रम मुक्त होगा।

एप्लिकेशन डाउनलोड करें और खबर का आनंद लें
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ebmnews

हमारे पेज को लाइक करें और अपने फेसबुक पर खबर देखें
https://facebook.com/ebmnewshindi

न्यूज़ वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करें
https://www.youtube.com/c/EBMNewsHindi?sub_confirmation=1

और खबरें जल्दी पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
https://chat.whatsapp.com/BYt4JevxzxRDghrkttYeGB