EBM News Hindi

ये है सबसे कम उम्र की IS की लड़की, कारनामें जानकर आप हो जाएंगे हैरान

लंदन: ब्रिटेन में अदालत ने 18 वर्ष की एक लड़की को आतंकी हमले की योजना बनाने के मामले में दोषी ठहराया. इसके साथ ही वह इस्लामिक स्टेट की सबसे कम उम्र की दोषी ब्रिटिश आतंकी बन गई. उसे ब्रिटिश म्यूजियम पर हमले की योजना बनाने के मामले में दोषी ठहराया गया. सफा बाउलार पर आरोप था कि वह आईएस में शामिल होने के लिए सीरिया जाने की योजना बना रही थी और आईएस के आतंकी एवं अपने प्रेमी के मारे जाने के बाद वह लंदन में आतंकी हमला करने की तैयारी कर रही थी. बीबीसी के अनुसार ओल्ड बैली स्थित एक ज्यूरी ने उसे आतंकवाद के दो आरोपों में दोषी ठहराया.

रिपोर्ट में कहा गया कि उसे छह सप्ताह के भीतर सजा सुनाई जाएगी. वर्ष 2015 में बाउलार पेरिस में हुए आतंकी हमलों के बाद आतंकियों के ऑनलाइन संपर्क में आकर कट्टरपंथ की शिकार हो गई थी. उस समय वह 16 साल की थी.

भारत, ब्रिटेन ने आतंकी समूहों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई का लिया संकल्प
आपको बता दें कि भारत और ब्रिटेन ने लश्कर- ए- तैयबा और जैश- ए- मोहम्मद जैसे वैश्विक आतंकी संगठनों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करने के लिए सहयोग बढ़ाने का संकल्प लिया था. दोनों देशों ने इस बात पर भी जोर दिया था कि आतंकवाद को किसी एक धर्म से नहीं जोड़ा जा सकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे के बीच ‘सार्थक चर्चा’ के बाद दोनों देशों ने आतंकवाद का मुकाबला करने का संकल्प लिया था.

10 डाउनिंग स्ट्रीट की ओर से जारी बयान के अनुसार दोनों नेताओं के बीच बातचीत में सीरिया हवाई हमले , आतंकवाद विरोधी लड़ाई , कट्टरपंथ और ऑनलाइन चरमपंथ पर मुख्य रूप से चर्चा की गई थी. भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने संवाददाओं से कहा था कि आतंकवाद से लड़ाई के मुद्दे पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने मोदी से कहा कि ब्रिटेन इस समस्या से निपटने में भारत के साथ् एक रणनीतिक साझेदार के तौर पर खड़ा है.

इनपुट भाषा से भी