EBM News Hindi

दोस्ताना मैच में हैट्रिक लगाने वाले मैसी ने कहा- हम वर्ल्डकप के प्रबल दावेदार नहीं

ब्यूनस आयर्स : अर्जेटीना के स्टार फारवर्ड लियोनल मेसी भले ही फीपी वर्ल्डकप 2018 के सबसे पसंदीदा फुटबॉलरों में से एक हों, लेकिन ऐसा लगता है कि वे अपनी टीम को जिता पाने के लिए आश्वस्त नहीं है. मेसी का मानना है कि उनकी रूस में 14 जून से शुरू होने वाले फीफा विश्व कप का खिताब जीने की प्रबल दावेदार नहीं है लेकिन उनके पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो “किसी से भी लड़ सकते हैं.” मेसी ने मंगलवार रात हैट्रिक लगाते हुए एक दोस्ताना मैच में अर्जेटीना को हैती के खिलाफ 4-0 से जीत दिलाई.

टीवाईसी स्पोर्ट्स ने मेसी के हवाले से बताया, “मैं उन सभी प्रशंसकों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने हमारा समर्थन किया. हम विश्व कप जीतने के प्रबल दोवेदार नहीं है लेकिन हमारी टीम अच्छी है और खिलाड़ी किसी का भी सामना करने के लिए तैयार हैं. खिलाड़ी लंबे समय समय से एकसाथ हैं और हम खिताब जीतना चाहते हैं.”

मेसी ने कहा, “हम पूरे उत्साह के साथ रूस जा रहे हैं. हम मैदान पर अपना 100 प्रतिशत देंगे. हम विश्व कप जीतने के सपने का पूरा करना चाहते हैं.” विश्व कप के लिए अर्जेटीना को ग्रुप डी में क्रोएशिया, आइसलैंड एवं नाइजीरिया के साथ रखा गया है.

मेसी इससे पहले कह चुके हैं कि उन्हें अपनी टीम पर भरोसा है और वह शांत तरीके स्वभाव से टूर्नामेंट में भाग लेगी. उन्होंने यह भी कहा कि वह खिताबी जीत की गारंटी नहीं ले सकते क्योंकि उनका मानना है कि केवल वे ही यहां सर्वश्रेष्ठ नहीं है बल्कि और भी टीमें टक्कर में हैं.

मेसी ने एक टेलीविजन को दिए साक्षात्कार में कहा था, “हमें अपनी पूरी क्षमता और अनुभव के साथ खेलना होगा, लेकिन शांति के साथ. हम यह नहीं जता सकते कि हम सर्वश्रेष्ठ हैं और खिताब जीतेंगे क्योंकि वास्तव में ऐसा नहीं है.” कप्तान ने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण यह है कि हम मैच दर मैच अपना ध्यान लगाएं और 16 जून को आइसलैंड के साथ होने वाले पहले मैच को जीतने पर ध्यान दें.

मेसी का कहना है, “विश्व कप में जीत के साथ आगाज करना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि शांत रहने से आपको अन्य टीमों के साथ मुकाबला करने में आसानी होगी. यह ग्रुप आसान नहीं है.” उन्होंने कहा कि अर्जेटीना 21 जून को क्रोएशिया और 26 जून को नाइजीरिया के साथ होने वाले मैचों में भी शांत स्वभाव के साथ उतरेगा. कप्तान ने कहा, “इसे लेकर ईमानदार रहना है. यहां पर कई सारी टीमें हैं जो हमसे अच्छे हैं. इसे लेकर हमें वास्तविक रहना होगा.”

एक बयान से लगा कि वे स्पेन के लिए खेलना चाहते हैं
उल्लेखनीय है कि हाल ही में मेसी को कहना पड़ा था कि उन्होंने एक मिनट के लिए भी स्पेन की राष्ट्रीय फुटबाल टीम के लिए खेलने के बारे में नहीं सोचा. मेसी का कहना है कि अपने पड़ोसी देश की टीम के लिए खेलना एक अनूठा अनुभव होगा. समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, अर्जेटीना के चैनल ‘चैनल 13’ को दिए एक साक्षात्कार के दौरान मेसी ने कहा, “मैं अपने दोस्त से बात कर रहा था और उसने मुझसे कहा कि देखो अगर तुम स्पेन में रह रहे हो, तो तुम पहले से ही विश्व चैम्पियन हो.”

मेसी ने कहा कि जब वह 15 या 16 साल के थे, तब उन्हें स्पेन की अंडर-17 फुटबाल टीम ने टीम में जगह देना का प्रस्ताव दिया था.

एक किशोर खिलाड़ी के रूप में मेसी अपने गृहनगर रोसारियो से निकलकर बार्सिलोना क्लब में शामिल हुए. इस क्लब में उन्होंने कई जीत हासिल की. इस कारण से मेसी ने कहा कि वह आश्वस्त हैं कि अगर वह भविष्य में यूरोप में खेलना जारी रखेंगे, तो वह किसी अन्य टीम के साथ नहीं बल्कि उसी टीम के साथ रहेंगे, जिसके साथ उन्होंने अपना पूरा करियर बिताया है.