Ultimate magazine theme for WordPress.

Coronavirus: क्या धूप और उमस से मर जाएगा कोरोना वायरस? अमेरिकी रिसर्च का नया दावा…

नई दिल्ली। Coronavirus: क्या गर्म और उमस वाले वातावरण में कोरोना वायरस मर जाएगा? अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने हाल ही में एक नई रिसर्च के बारे में बात करते हुए कहा कि कोरोना वायरस गर्म और उमस वाले वातावरण में ज़्यादा असरदार नहीं रहता। इस ख़तरनाक वायरस के बारे में सबसे पहले दावा किया गया था कि इस पर मौसम के बदलाव का कोई असर नहीं पड़ेगा। जिसके बाद से इस विषय पर बहस जारी है।

ट्रम्प ने हाल ही में कहा कि ठंडे मौसम की तुलना में गर्म और उमस भरे मौसम में कोरोना वायरस के बचने की उम्मीद कम है। ट्रम्प ने अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी (डीएचएस) की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए यह बयान दिया।

ट्रम्प ने हाल ही में कहा कि ठंडे मौसम की तुलना में गर्म और उमस भरे मौसम में कोरोना वायरस के बचने की उम्मीद कम है। ट्रम्प ने अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी (डीएचएस) की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए यह बयान दिया।

डीएचएस की रिपोर्ट का हवाला देते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने गुरुवार (स्थानीय समय) को कहा कि कोरोना वायरस के गर्म और नम वातावरण में जीवित रहने की कम संभावना है। यह ठंड और शुष्क मौसम के उलट है, जहां यह वायरस लंबे समय तक रहता है। व्हाइट हाउस की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में ट्रंप ने कहा कि डीएचएस के वैज्ञानिकों ने एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें यह जानकारी मिलती है कि वायरस विभिन्न तापमानों, जलवायु और सतहों पर कैसे प्रतिक्रिया करता है। दरअसल, यूरोपीय देशों के मुकाबले, कोरोना वायरस का एशियाई देशों में प्रभाव कम देखने को मिल रहा है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.