EBM News Hindi

कोंच की विशेषताओं का हिस्सा बन जायेगा कोंच फ़िल्म फेस्टिवल-राजा बुंदेला

 

कोंच (जालौन)– समाज सिनेमा साहित्य एवम शिक्षा के समावेश के साथ शहर,सिनेमा एवं गाँव कस्बों की प्रतिभाओं को एक मंच पर लाने, नगर को पहचान दिलाने जैसे बहु उद्देशीय कोंच ऑनलाइन फिल्म फेस्टिवल के डिजिटल सम्मान समारोह का समापन किया गया! सम्मान समारोह के समापन अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री, बुन्देलखण्ड विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष सिने स्टार राजा बुंदेला ने बतौर मुख्य अतिथि सहभागी बने

सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए सिने राजा बुंदेला ने कहा कि कोंच का एक अपना इतिहास है और उस इतिहास की कड़ी में कोंच फिल्म फेस्टिवल भी जुड़ जायेगा कोंच की रामलीला मुझे याद है अब कोंच का फिल्म फेस्टिवल भी लोगो तक पहुच गया कोंच की विशेषताओ में एक हिस्सा यह बन जायेगा

उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड की संस्कृति धीरे धीरे खत्म होती जा रही है जितनी लोक परम्पराएं है वो खत्म होती जा रही है यंहा का जो नौजवान है वो थोडा इधर उधर का बम्बई पहुच जाता है बोम्बे में जब वह जाता है तो उसको कोई समझ नही होती है बुन्देली भाषा बोलत है उनको ज्ञान बुन्देलखण्ड का होता है अब जब वंहा जाता है तो सबसे पहले भाषा पर काम करना पड़ता फिर रखरखाव फिर दिखावत एक्टिंग का टाइम आता है तो ४-५ साल निकल जाती है ४-5 साल निकलने के बाद उसको अहसास होता है कि समय बर्बाद हो गया पैसा बर्बाद हो गया फिर बुन्देलखण्ड वापस आता है इन परिस्थियों में न वह यंहा का रहता न वंहा का हो पाता वापस आता है तो एक परिहास मजाक का विषय हो जाता है

सिने स्टार बुंदेला ने कहा कि इस तरह के फेस्टिवल से आप जुड़िये सिनेमा से जुड़ने की यह आधार शिला बहुत अच्छी है इस फेस्टिवल के किसी न किसी रूप में सहयोगी बनिये भागीदारी बनिये इस फेस्टिवल के अलावा भी आपको पता चलेगा दुनियादारी में क्या हो रहा किस तरह की फिल्मे बन रही कैसा माहौल है आपको अपनी लोक कलाओ का पता चलेगा

फेस्टिवल के संस्थापक/संयोजक पारसमणि अग्रवाल ने बताया कि यह प्रयास निरंतर जारी रहेगा कोशिश रहेगी अगला फेस्टिवल इससे दुगना बड़ा हो इसके लिए कई कमेटियो का जिला प्रदेश एवम देश स्तर पर किया जा रहा यह प्रयास चंद दिनों में सिमट कर न रहे इसलिए तय किया गया कि फेस्टिवल के तरफ से प्रतिभा निखार के कार्य को सुचारू रखने पर विचार किया जा रहा है

रिपोर्ट-विवेक द्विवेदी जालौन यूपी