EBM News Hindi

पत्रकार शुजात बुखारी हत्याकांड: एक संदिग्ध गिरफ्तार, पिस्टल बरामद

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को हुई पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या के मामले में शुक्रवार को एक बड़ा और अहम खुलासा हुआ. इस हत्यकांड में अभी तक तीन आतंकियों का नाम आ रहा था, लेकिन अब एक चौथा संदिग्ध भी सामने आया है. आपको बता दें कि जिस जगह पर शुजात बुखारी को गोली मारी गई थी, वहां का एक वीडियो सामने आया है जिसमें चौथा संदिग्ध दिख रहा है. यही नहीं चौथा संदिग्ध शुजात बुखारी की बॉडी के पास ही खड़ा है और वहां से पिस्टल उठाकर भाग जाता है. श्रीनगर पुलिस ने शुक्रवार दोपहर इस आतंकी की तलाश के लिए उसकी तस्वीर जारी की थी और इसके लिए आम लोगों की भी मदद मांगी थी. जिसके बाद उसकी पहचान जुबैर कादरी के तौर पर हुई है. उस चौथे संदिग्ध को गिरफ्तार कर लिया गया है.

आईजी ने कहा पिस्टल हुई बरामद
बुखारी की हत्या के मामले में चौथे संदिग्ध की गिरफ्तारी के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी एसपी पानी ने कहा, “पहले संदिग्ध की तस्वीर अभी पब्लिक डोमेन में नहीं है. दूसरे संदिग्ध की तस्वीर पब्लिक डोमेन में है. यह साफ दिखाई दे रहा है कि वह वहां खड़ा था और हथियार निकालने की कोशिश कर रहा था. एक एसआईटी गठित कर दी गई है. इस वक्त हम चौथे संदिग्ध की भूमिका की जांच कर रहे हैं. जो वहां पर हथियार उठाते और गायब होते नजर आया था. शुजात बुखारी हत्याकांड में चौथे संदिग्ध की पहचान हो चुकी है. उसके पास पिस्टल बरामद हो चुकी है. आगे की जांच जारी है. उस संदिग्ध को हिरासत में ले लिया गया है. जहां तक इस मामले की बात है, यह एक आतंकवादी घटना है. यह एक आतंक संबंधी अपराध है. हम इस मामले की जांच कर रहे हैं.”

पहले कर रहा था मदद का नाटक
आपको यह भी बता दें कि वीडियो में ऐसा लग रहा है कि शुरू में तो चौथा संदिग्ध पहले मदद करने का नाटक कर रहा था और जैसे ही वहां पर भीड़ बढ़ने लगती है तो वह मौका देख कर पिस्टल उठा लेता है और भागने की कोशिश करता है. ताजा जानकारी के मुताबिक इस हत्याकांड के चौथे संदिग्ध के पास से मौके से गायब की गई पिस्टल बरामद कर ली गई है. साथ ही उस दिन उसने जो कपड़े पहने थे वह भी बरामद कर लिए गए हैं.

अभी एक पिस्टल है गायब
बताया जा रहा है बुखारी की सुरक्षा में तैनात दोनों पीएसओ (सुरक्षा अधिकारी) के पास पिस्टल थीं. जिनमें से एक पिस्टल चौथे संदिग्ध के पास से बरामद कर ली गई है. लेकिन अभी भी एक पिस्टल का पता नहीं चल पाया है. उसे बरामद करने की कोशिश की जा रही है.

अखबार ‘राइजिंग कश्मीर’ ने ऐसे दी श्रद्धांजलि
अंग्रेजी अखबार ‘राइजिंग कश्मीर’ के प्रधान संपादक शुजात बुखारी को उनके पैतृक गांव में शुक्रवार (15 जून) को सुपुर्दे खाक किया गया. उनके जनाजे में हजारों लोगों ने हिस्सा लिया. अखबार के कार्यालय के बाहर अज्ञात बंदूकधारियों ने गुरुवार (14 जून) को उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी. जिस समय पत्रकार को सुपुर्दे खाक करने की तैयारी चल रही थी उसी समय ‘राइजिंग कश्मीर’ के पाठक काले रंग की पृष्ठभूमि में शुजात की तस्वीर के साथ ‘राइजिंग कश्मीर’ का अंक पढ़ रहे थे. राइजिंग कश्मीर का दैनिक संस्करण आज (शुक्रवार, 15 जून) बाजार में आया, जिसमें पहले पूरे पन्ने पर काले रंग की पृष्ठभूमि में दिवंगत प्रधान संपादक की तस्वीर है. इस पन्ने पर एक संदेश लिखा है: अखबार की आवाज दबाई नहीं जा सकती. इसमें लिखा है, “आप अचानक चले गए, लेकिन अपने पेशेवर दृढ़ निश्चय और अनुकरणीय साहस के साथ आप हमारे लिए मार्गदर्शक बने रहेंगे. आपको हमसे छीनने वाले कायर हमारी आवाज दबा नहीं सकते. सच चाहे कितना भी कड़वा क्यों न हो लेकिन सच को बयां करने के आपके सिद्धांत का हम पालन करते रहेंगे. आपकी आत्मा को शांति मिले.”