EBM News Hindi

हिमालय से खोजे गए लापता हुए 23 ट्रैकर, 48 घंटों से ITBP कर रही थी जद्दोजहद

नई दिल्‍ली : इंडो-तिब्‍बत बार्डर पुलिस (ITBP) फोर्स को 48 घंटे की जद्दोजहद के बाद बड़ी सफलता मिली है. ITBP की टीम ने हिमालय की वादियों में लापता हुए 23 ट्रैकर्स को सफलता पूर्वक खोज निकाला है. वहीं इस घटना की एक दुखद कड़ी भी है. दरअसल, ITBP द्वारा रेस्‍क्‍यू किए गए 23 ट्रैकर्स में एक ट्रैकर का शव बरामद किया गया है. इस ट्रैकर की पहचान हर्षद दत्‍तात्रेय आप्‍टे है. हर्षद मूल रूप से महाराष्‍ट्र के थाने जिले के रहने वाले है. ITBP के जवान अपने कंधों पर हर्षद के शव को लेक‍र हिमालय से नीचे उतर रहे हैं. संभावना जताई जा रही है कि हर्षद का शव शनिवार सुबह ITBP की लोकेशन पर पहुंच जाएगा.

ITBP के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, ट्रैकिंग पर गए सभी 23 ट्रैकर को खोज निकाला गया है. जिसमें तीन ट्रैकर ITBP की लोकेशन पर पहुंच चुके हैं, जबकि 19 अन्‍य ट्रैकर्स शुक्रवार रात्रि 10 बजे तक ITBP की लोकेशन पर पहुंच जाएंगे. उन्‍होंने बताया कि सभी ट्रैकर्स को नागास्‍ती ITBP पोस्‍ट लेकर आया जा रहा है. वहीं मृतक हर्षद के शव को बर्शू पास से ITBP के जवान अपने कंधों पर लेकर नीचे उतर रहे हैं. संभावना है कि शनिवार सुबह तक उनका शव भी ITBP लोकेश पर पहुंच जाएगा. इस बाबत मृतक की पत्‍नी रश्‍मी को अवगत करा दिया गया है. उल्‍लेखनीय है कि ट्रैकर्स के लापता होने की सूचना मिलने के बाद ITBP की 60 सदस्‍यीय टीम बीते 48 घंटो से लगातार रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन में जुटी हुई थी. संभावना है कि इस ऑपरेशन को पूरा होने में करीब 72 घंटे का समय लग जाएगा.

ITBP के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि हिमालय की वादियों में ट्रैकिंग के लिए निकल ट्रैकर्स का एक ग्रुप लापता हो गया था. ट्रैकर्स के इस ग्रुप में कुल 23 लोग थे. जिसमें 12 ट्रैकर्स, एक गाइड और दस पोर्टर्स शामिल थे. लापता हुए इन ट्रैकर्स की तलाश में ITBP की एक टीम को सर्च ऑपरेशन के लिए रवाना किया गया था. बीते 48 घंटे से चल रहे इस सर्च ऑपरेशन में एक शख्‍स को खोजने में सफलता मिली थी. यह शख्‍स मृत अवस्‍था में पाया गया था. जिसके चलते ITBP को पूरी घटना और बाकी ट्रैकर्स के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी थी.

उन्‍होंने बताया कि ट्रैकर्स की तलाश के लिए 60 सदस्‍यीय दल को मौके पर रवाना किया गया था. ITBP का दल लगातार इन ट्रैकर्स की लोकेशन ट्रेस करने की मुहिम में जुटा हुआ था. मौके पर 5 से 6 फीट तक बर्फ जमा होने के चलते ट्रैकर्स को खोजने में परेशानी आ रही थी. बावजूद इसके ITBP की 60वीं बटालियन की टीम उपलब्‍ध साधनों के जरिए जल्‍द से जल्‍द ट्रैकर्स को सुरक्षति खोजने के लिए दिन और रात में लगातार सर्च ऑपरेशन को जारी रखा था.

ITBP के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, ‘गो हिमालय’ नाम से एक ट्रैंकिग ग्रुप ट्रैकिंग के लिए निकला था. इस ग्रुप में 12 ट्रैकर्स थे. जिसमें 8 पुरुष और 4 महिलाएं थी. इसके अलावा, इस ग्रुप में एक गाइड और 10 पोर्टर्स भी हैं. अब तक मिली जानकारी के अनुसार यह ग्रुप उत्‍तराखंड के संकारी से ट्रैकिंग के लिए निकला था. इस ग्रुप को हर की दून होते हुए हिमाचल प्रदेश स्थिति संगला (किन्‍नौर) पहुंचना था. दो दिन पहले ITBP की 50वीं बटालियन को इस ग्रुप की तरफ से एक SOS कॉ‍ल मिली. जिसके बाद इन ट्रैकर्स की तलाश में ITBP की एक टीम को रवाना कर दिया गया था.

ITBP के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि मौजूदा जानकारी के तहत इस ग्रुप में शामिल 12 ट्रैकर्स की पहचान कर ली गई है. जिसके नाम मयुरेश जोशी, मरुनमय जोशी, जयेश, प्रशांत, हर्षद आप्‍टे, कौशल, स्‍नेहा, रीना, संजय, मोनजोन और एक्‍यूलर शामिल हैं. मोनजोन और एक्‍यूलर मूल रूप से मैक्सिको निवासी विदेशी नागरिक हैं. वहीं इस ग्रुप के आठ सदस्‍य मुंबई से और एक सदस्‍य फरीदाबाद से है. इन सभी ट्रैकर्स की उम्र 30 वर्ष से 52 वर्ष के बीच है.