EBM News Hindi

इटली: जनवादी पार्टियों के सत्ता पर काबिज होने की कोशिश विफल, राजनीतिक संकट पैदा

रोम: इटली में जनवादी पार्टियों के सत्ता पर काबिज होने की कोशिश विफल हो जाने के बाद ताजा राजनीतिक संकट पैदा हो गया है. राष्ट्रपति नए चुनावों से पहले अस्थायी सरकार का नेतृत्व करने के लिए एक अर्थशास्त्री को सोमवार(28 मई) को नियुक्त करने वाले हैं. राष्ट्रपति सर्गियो मैटरेला ने अर्थव्यवस्था मंत्री पाओलो सवोना के नाम पर वीटो कर दिया जिससे जनवादी राजनीतिक पार्टी फाइव स्टार मूवमेंट और घोर दक्षिणपंथी लीग नाराज हो गई तथा उनकी ओर से प्रधानमंत्री पद के लिये नामित किये नेता ने खुद को इस दौड़ से अलग कर लिया.

वकील और राजनीति में कम अनुभव रखने वाले 53 वर्षीय गियूसेप कोंटे ने कहा, ‘‘मैंने बदलाव की सरकार बनाने के अपने जनादेश को त्याग दिया है।’’ मार्च के अनिर्णायक आम चुनाव के बाद देश में फिर से राजनीतिक संकट पैदा हो गया है. मैटरेला ने कहा कि उन्होंने सावोना को छोड़कर मंत्री पद के लिये दिये गए सभी नामों को स्वीकार कर लिया था.

सावोना ने यूरो को ‘जर्मन पिंजड़ा’ बताया था . उन्होंने कहा था कि ‘जरूरत पड़ने पर’ इटली को एकल मुद्रा छोड़ने की योजना बनाने की आवश्यकता है. फाइव स्टार और लीग के नेताओं लुइगी दि माइओ और मैटिओ साल्विनी ने वीटो की भर्त्सना की और जर्मनी , रेटिंग एजेंसियों तथा वित्तीय लॉबियो पर इसमें हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया.

राष्ट्रपति ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ काम कर चुके अर्थशास्त्री कार्लो कोत्तेरेली को सोमवार को अस्थायी सरकार का नेतृत्व करने के लिए बातचीत के लिये बुलाया. इटली में पतझड़ के मौसम में नये सिरे से चुनाव कराए जाने की प्रबल संभावना है. लुइगी ने रोम के समीप एक रैली में समर्थकों से कहा, ‘‘उन्होंने बहुमत वाली सरकार को हटाकर ऐसे व्यक्ति को चुना जिसने बहुमत हासिल नहीं किया.’’

Tags:इटली सर्गियो मैटरेला पाओलो सवोना Italy Rome