EBM News Hindi

ISRO ने सफलतापूर्वक PSLVC46 से रिसेट 2बी को किया लॉन्च

नई दिल्ली। इसरो (Indian Space Research Organisation) ने आज पीएसएलवीसी46 को सफलतापूर्वक लॉन्च किया। इसे श्रीहरिकोटा से सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया ग या। पीएसएलवीसी46 ने रिसेट 2बी (RISAT-2B) को पृथ्वी से 555 किलोमीटर के एल्टीट्यूड पर स्थापित किया। इसरो ने इस इस परीक्षण को सफलतापूर्वक पूरा किया है।इसरो ने आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से यह प्रक्षेपण किया। बता दें कि रिसेट सैटेलाइट सीरीज का का यह चौथा उपग्रह है, इसकी इस्तेमाल टोही गतिविधियों, रणनीतिक निगरानी औरआदा प्रबंधन के लिए किया जाएगा। इस सैटेलाइट के साथ सिंथेटिक अफर्चर रडारइमेजर भी भेजा गया है जिससे कि इसकी सेवा लगातार मिलती रहे। पीएसएलवी के सफल प्रक्षेपण के बाद इसरो के चेयरमैन डॉक्टर के सिवान ने बताया कि चंद्रयान चंद्रयान 2 भारत के लिए ऐतिहासिक मिशन साबित होगा, इसे 9 जुलाई और 16 जुलाई को लॉन्च किया जाएगा। चंद्रयान 2 हमारे लिए सबसे चुनौतीभरा मिशन है। यह ऐसी जगह पर लैंड करेगा, जहां इससे पहले कभी कोई भी नहीं पहुंचा है।इस सैटेलाइट को 555 किलोमीटर की उंचाई पर सफलतापूर्वक स्थापित किया गया है। गौर करने वाली बात है कि रीसेट-2 तकरीबन सात साल के बाद भारतीय राडार इमेजिंग उपग्रह की सीरीज में लॉन्च किया गया है। यह सैटेलाइट हर मौसम में बेहतर तस्वीरें भेज सकता है। इसकी मदद से आपदा प्रबंधन, राहत कार्य और सुरक्षाबलों को काफी सहूलियत मिलेगी। इसरो ने कुल छह सैटेलाइट लॉन्च की योजना बनाई है। इनमे सेस रिसेट-2बी के बाद रिसेट 2बीआर1, रिसेट 2बीआर2, रिसेट 1ए, रिसेट 1बी, अहम हैं। इन तमाम सैटेलाइठ को तकरकीबन 500 किलोमीटर की उंचाई पर स्थापित किया जाएगा, जिससे की देश की टोही क्षमता को बढ़ाया जा सके।