EBM News Hindi

Infosys का शुद्ध लाभ घटा, 2019 की दूसरी तिमाही में 2.2 फीसद कम होकर 4,019 करोड़ रुपये रहा

नई दिल्ली, पीटीआइ। देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इन्फोसिस का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की समाप्त दूसरी तिमाही में 2.2 फीसद घटकर 4,019 करोड़ रुपये रह गया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी को 4,110 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। कंपनी ने शेयर बाजार को भेजी सूचना में यह जानकारी दी है।

कंपनी ने बताया कि उसकी आय 9.8 फीसद बढ़कर 22,629 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 20,609 करोड़ रुपये थी। इन्फोसिस ने चालू वित्त वर्ष के अपनी आय के नीचे के अनुमान में बदलाव किया है।

इन्फोसिस ने अनुमान जताया है कि स्थिर मुद्रा में उसकी आमदनी में 9-10 फीसद वृद्धि होगी। कंपनी ने पहले इसमें 8.5 से 10 फीसद वृद्धि का अनुमान लगाया था। इन्फोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक सलिल पारेख ने कहा कि कई मोर्चों राजस्व वृद्धि, डिजिटल वृद्धि, ऑपरेटिंग मार्जिन, बड़े करार पर हस्ताक्षर और कर्मचारियों के नौकरी छोड़ने की दर पर हमारा प्रदर्शन अच्छा रहा है।

उन्होंने कहा कि ये सभी स्पष्ट संकेत हैं कि कंपनी ग्राहक-केंद्रित अपने सफर में अच्छा कर रही है और अपने हितधारकों के लिए अधिकतम मूल्य बढ़ा रही है। डॉलर के संदर्भ में देखें तो उक्त तिमाही में इसका शुद्ध लाभ 569 मिलियन अमेरिकी डॉलर था, जबकि राजस्व 3.21 बिलियन अमेरिकी डॉलर था।

इन्फोसिस का रिजल्ट ऐसे समय में आया है जब उसके बड़े प्रतिद्वंद्वी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने अपने दूसरी तिमाही के परिणामों की घोषणा कर दी है। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने एक दिन पहले ही अपने परिणाम जारी किए थे। टीसीएस का शुद्ध लाभ 1.8 फीसद बढ़कर 8,042 करोड़ रुपये हो गया, जबकि इसका राजस्व 5.8 फीसद बढ़कर 38,977 करोड़ रुपये हो गया।

सितंबर 2019 की तिमाही में इन्फोसिस का डिजिटल राजस्व सालाना आधार पर 38.4 फीसद बढ़कर 1.23 बिलियन डॉलर हो गया, जो इसके कुल राजस्व का 38.3 फीसद था। कंपनी ने 8 रुपये प्रति शेयर का अंतरिम लाभांश देने की घोषणा की है।