EBM News Hindi

INDvsENG: जिन बल्लेबाजों पर विराट ने किया था भरोसा, उन्हीं ने कोहली को दिया ‘धोखा’

0

बर्मिंंघम: इंग्लैंड में चल रही भारत और इंग्लैंड के बीच चल रहे पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच इंग्लैंड ने 31 रनों से जीत लिया. इस मैच में टीम इंडिया को दूसरी पारी में इंग्लैंड ने जीत के लिए केवल 194 रन का ही लक्ष्य दिया लेकिन दूसरी पारी में भी पहली पारी की तरह विराट कोहली को छोड़कर टीम इंडिया के शीर्ष और मध्यम क्रम के बल्लेबाज बुरी तरह से नाकाम रहे. टीम इंडिया दूसरी पारी में 54.2 ओवरों में सिर्फ 162 रनों पर ढेर होकर मैच गंवा बैठी.

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस हार के बाद कहा है कि टीम को अपने खेल में सुधार करने और अपनी रणनीति को सही तरीके से लागू करने की जरूरत है. इंग्लैंड ने अपने 1000वें टेस्ट मैच के चौथे दिन भारत को मात देकर पांच मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है. कोहली ने पहली पारी में 225 गेंदों में 22 चौके और एक छक्के की मदद से 149 रनों की पारी खेली थी और दूसरी पारी में भी 93 गेंदों में 51 रन बनाए थे. हालांकि किसी और से समर्थन न मिलने के कारण उनका प्रयास व्यर्थ चला गया.

मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कोहली ने कहा, “हमारे शॉट्स का चयन बेहतर हो सकता था. हमें बल्लेबाजी में अपनी रणनीति को सही तरीके से लागू करना होगा. इंग्लैंड ने हालांकि दमदार वापसी की. हमें इस मैच से सकारात्मक चीजें सीखकर आगे जाने की जरूरत है.” उन्होंने कहा, “हमने जिस तरह से इंग्लैंड के खिलाफ शुरुआत की उससे हम खुश हैं. पहली पारी में निचले क्रम से सीखने की जरूरत है. ईशांत शर्मा और उमेश यादव विकेट पर टिके रहे थे.”

कप्तान ने कहा, “ईशांत ने प्रतिबद्धता दिखाई वहीं उमेश हार्दिक के साथ खड़े रहे. इस मैच में कुछ भी छुपाने लायक नहीं है. हमें सकारात्मक रहने की जरूरत है.”कोहली ने पहली पारी में ईशांत के साथ नौवें विकेट के लिए 35 रन जोड़े थे तो वहीं उमेश के 10वें विकेट के लिए 57 रनों की साझेदारी की थी. कोहली ने मैच में रोमांचक मुकाबले की तारीफ की.

उन्होंने कहा, “जो लोग स्टेडियम में आए थे या घर पर देख रहे थे उनके लिए यह शानदार मैच था. इस रोमांचक मैच का हिस्सा बनकर मैं खुश हूं. मैच में कुछ ऐसे पल थे जहां हमने वापसी की.” उन्होंने कहा, “इंग्लैंड जैसी टीम हर दिन आपको अपकी मर्जी के मुताबिक नहीं खेलने देगी. उन्होंने हमें कड़ी मेहनत करने पर मजबूर किया. इससे सीरीज में रोमांच बढ़ जाएगा.”

पहली पारी में 149 रनों के बारे में पूछे जाने पर कोहली ने कहा, “टीम के लिहाज से देखा जाए तो मैंने पहली पारी में जो रन बनाए उसकी जरूरत थी. ऐडिलेड के बाद दूसरी पारी जिसे मैं हमेशा याद रखूंगा.” कप्तान ने कहा, “अगर हम यह मैच जीत गए होते तो और अच्छा होता. दूसरी पारी में एक और साझेदारी हमें मैच जीता सकती थी. हमें सोचना होगा कि हम किस तरह से दोबारा एक साथ आकर जीत सकते हैं.”

विराट के टीम चयन को लेकर उठेंगे सवाल
विराट चाहे कुछ कहें लेकिन उनके इस मैच में पुजारा की जगह शिखर धवन को चुनने के फैसले की आलोचना होना तय है. शिखर ने पहली पारी में 26 रन लेकिन दूसरी पारी में केवल 13 रन बनाए थे. इसके अलावा उन्होंने सैम कुरैन को कैच भी छोड़ा था जब सैम 13 के निजी स्कोर पर थे. वहीं कहा जा रहा था कि पुजारा कि जगह केएल राहुल को लिया गया था, लेकिन राहुल ने भी विराट को निराश किया.