EBM News Hindi

INDvsAFG Day 1 : भारत के 347 रनों में शिखर धवन और मुरली विजय के शतक

बेंगलुरु : अफगानिस्तान के खिलाफ गुरुवार से शुरू हुए एकमात्र टेस्ट मैच के पहले दिन शुरु के पहले दो सत्रों में भारतीय टीम के बल्लेबाज छाए रहे लेकिन तीसरे सत्र में अफगानिस्तान के तेज गेंदबाजों ने वापसी की. पहले दिन के शुरुआती दो सत्र भारत के शिखर धवन और मुरली विजय के नाम रहे. दोनों ने शतक बनाए. शिखर टेस्ट मैच के पहले सत्र में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बने. यह शिखर के करियर का सातवां शतक था वहीं मुरली विजय ने भी अपने करियर का 11वां शतक लगाया. इसके अलावा लोकेश राहुल ने भी शानदार अर्धशतक लगाया.

लेकिन तीसरे सत्र में अफगानिस्तान ने वापसी करते हुए भारत के छह विकेट गिरा दिए. दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया का स्कोर 6 विकेट पर 347 हो गया था. क्रीज पर हार्दिक पांड्या (10) और रविचंद्रन अश्विन (7) खेल रहे थे. टीम के इस स्कोर में शिखर धवन के 107 रन, मुरली विजय के 105 रन, और लोकेश राहुल के 54 रनों का अहम योगदान था. तीसरे सत्र में भारत के कुल पांच विकेट गिरे जिसमें दिनेश कार्तिक का रन आउट होना भी शामिल रहा.

पहले दो सत्रों में स्पिनर्स के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद आखिरी सत्र में राशिद खान को 67वें ओवर में सफलता मिली जब उन्होंने भारत के कप्तान अजिंक्य रहाणे को केवल 10 रन के निजी स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया. यह राशिद खान का पहला टेस्ट विकेट था. जबकि पहले दो सत्रों तक वे सबसे महंगे गेंदबाज रहे थे. उनके अलावा मुजीब उर रहमान को भी एक विकेट मिला.

सुबह टीम इंडिया के कप्तान रहाणे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. अजिंक्य रहाणे टीम इंडिया के नियमित कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में इस मैच में टीम की कमान संभाल रहे हैं. अफगानिस्तान का यह पहला टेस्ट मैच है. यह पहली बार है कि भारत में कोई टेस्ट मैच जून के महीने में हो रहा है. पारी की शुरुआत भारत के लिए मुरली विजय और शिखर धवन ने की.

रिव्यू न लेकर अफगानिस्तान ने दिया शिखर धवन को जीवनदान
मैच के दसवें ओवर में शिखर धवन को तब जीवनदान मिल गया जब मोहम्मद नबी ने एक शानदार गेंद फेंकी जिसे धवन पढ़ नहीं पाए और गेंद ने कांटा बदला और उनके बल्ले के काफी नजदीक से गुजरी जिसे अंपायर समझ न सके और उन्हें नॉट आउट दिया. विकेटकीपर मोहम्मद शहजाद ने गेंद पकड़ते ही खुशी के मारे उसे उपर उछाल दिया, लेकिन कप्तान असगर स्टानिकजाई ने खिलाड़ियों से चर्चा के बाद भी रिव्यू नहीं ले सके. अगर वे रिव्यू लेते तो शिखर धवन के रूप में अफगानिस्तान को पहला टेस्ट विकेट मिल जाता.

भारत को मजबूत शुरुआत देने के बाद शिखर धवन ने अपने करियर का छठा अर्धशतक पूरा किया. मैच के 14वें ओवर में राशिद खान की गेंद पर धवन ने अपने चिर परिचित अंदाज में चौका लगाकर पचास रन पूरे किए. उन्होंने केवल 47 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा कर लिया. इस पारी में शिखर ने 10 चौके और एक छक्का लगाया.

लंच तक भारत ने कोई विकेट नहीं गंवाया था और शिखर धवन ने तूफानी बल्लेबाजी करते हुए मैच के 26वें ओवर में ही अपने करियर का सातवां शतक लगा दिया. तेजी से बल्लेबाजी कर रहे धवन ने 20वें ओवर में ही भारत का स्कोर 100 के पार करा दिया था. लंच तक 26वें ओवर के बाद ही शिखर ने राशिद खान की गेंद पर चौका लगाकर अपना शतक पूरा करने के साथ ही टीम का स्कोर भी 150 तक पहुंचा दिया. लंच तक भारत का स्कोर 158 रन था और शिखर 104 और मुरली विजय 41 रन बनाकर खेल रहे थे.

शिखर धवन नहीं बढ़ा सके अपनी पारी को
पहले सत्र में शतक लगाने वाले शिखर धवन लंच के बाद अपनी पारी को लंबा नहीं खींच सके और 107 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए. उन्हें यामिन अहमदजई ने मोहम्मद नबी के हाथों कैच कराकर अफगानिस्तान का पहले टेस्ट विकेट लेने का गौरव हासिल किया. शिखर ने 96 गेंदों में 107 रन बनाए जिसमें 19 चौके और तीन छक्के शामिल थे.

शिखर के आउट होने के बाद मुरली विजय ने अपनी लय कायम रखते हुए अपने करियर का 16 वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया

जब 45वां ओवर चल रहा था तब भी अचानक बारिश होने की वजह से खेल को रोक देना पड़ा. उस समय टीम इंडिया का स्कोर एक विकेट के नुकसान पर 248 रन हो गया था. मुरली विजय 94 रन और लोकेश राहुल 33 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे. मुरली और राहुल दोनों ने मिलकर 37वें ओवर में ही भारत का स्कोर 200 कर दिया था. 46वें ओवर के दौरान खेल रुकने के बाद दिन के खेल का तीसरा सत्र करीब 3.00 से पहले शुरु हो गया. पहले मुरली विजय और लोकेश राहुल ने टीम का स्कोर 250 के पार पहुंचा दिया. इसके बाद मुरली विजय 99 के स्कोर पर पहुंचे ही थे कि बारिश शुरु हो गई. मैच के 48.4 ओवर तक भारत का स्कोर एक विकेट के नुकसान पर 264 ही हो पाया. लोकेश राहुल भी केवल 44 रनों पर खेल रहे थे.

लेकिन खेल के अंतिम सत्र में बारिश के व्यवधान केबाद जब दोबारा खेल शुरु हुआ तो पहले तो मुरली विजय ने अपना शतक पूरा किया. मुरली विजय ने अपना शतक 143 गेंदों पर पूरा किया जबकि उन्होंने पहले 50 रन 80 गेंदों में पूरे किए थे. मुरली ने अपनी पारी में 15 चौके और एक छक्का लगाया. लेकिन इसके बाद वे दो ही रन बना सके और वफादार की गेंद पर एलबी डब्ल्यू आउट होगए. उनके आउट होने के बाद अगले ही ओवर में यासिन अहमदजई ने लोकेश राहुल को बोल्ड कर दिया. उससे पहले राहुल अपना अर्धशतक बनाने में जरूर कामयाब हो गए.

53वें ओवर तक भारत के तीन विकेट के नुकसान पर 284 रन हो गए थे. जिसमें शिखर धवन 107 रन, मुरली विजय 105 रन, और लोकेश राहुल 54 बना कर आउट हो गए थे. क्रीज पर चेतेश्वर पुजारा 4 रन पर और कप्तान अजिंक्य रहाणे बिना खाता खोले मौजूद थे. इसके बाद ही दोनों ने अपना विकेट बचाते हुए टीम का स्कोर 60वें ओवर में ही भारत का स्कोर 300 रनों के पार करा दिया.