EBM News Hindi

जेब से गए 38 हजार, 5 घंटे की जद्दोजहद, तब मिली ट्रंप की झलक

सिंगापुर: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की एक झलक पाने के लिए भारतीय मूल के एक व्यक्ति ने लग्जरी होटल में एक रात के लिए 38,000 रुपए खर्च किए. ट्रंप उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन के साथ ऐतिहासिक वार्ता करने पहुंचे थे. समाचार पत्र ‘टुडे’ की एक रिपोर्ट के अनुसार महाराज मोहन (25) शांग्री- ला होटल पहुंचे और तब से ट्रंप की एक झलक पाने के लिए होटल के गलियारों में चक्कर लगाने लगे. करीब पांच घंटे वहां खड़े भी रहे. लेकिन आखिरकार सुबह आठ बजे उन्हें ट्रंप की एक झलक उस समय मिली जब वह शिखर वार्ता के लिए होटल से निकल रहे थे.

रिपोर्ट के अनुसार ‘द बीस्ट’ के साथ सेल्फी लेने की कोशिश करने पर मोहन की मुश्किलें बढ़ गई. ‘द बीस्ट’ वह लिमोजिन कार है जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति यात्रा करते हैं. मोहन ने कहा, ‘‘765 सिंगापुरी डॉलर एक बड़ी राशि है. लेकिन राष्ट्रपति से मिलने के लिए नहीं.’’ मोहन ने कहा कि उन्हें पता था कि उनके ट्रंप से मिलने की संभावना बेहद कम है.उन्होंने बताया कि इससे पहले वर्ष 2007 में उन्होंने ट्रंप को उस समय देखा था जब उन्होंने ‘ वर्ल्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट (डब्ल्यूडब्ल्यूई) रेसलमेनिया ’ में ‘‘ बेटल ऑफ बिलेनियर्स ’’ जीता था.

Took the once in a lifetime chance to crash The Singapore Summit where Donald J Trump met Kim Jong Un to broker world…

Posted by Maharaj Mohan on Tuesday, June 12, 2018

इस शख्‍स की वजह से ही मुमकिन हो पाई ट्रंप और किम की ऐतिहासिक मुलाकात
किम और ट्रंप के बीच हुई मुलाकात के पीछे भी एक शख्‍स की ही कोशिशें रंग लाईं. इस शख्‍स ने उत्‍तर कोरिया से अपनी दशकों पुरानी रंजिश भुलाकर उसे इस लायक बनाया कि किम ट्रंप के सामने जा बैठे और बेहद दोस्‍ताना माहौल में उनसे मुलाकात की. यह शख्‍स है दक्षिण कोरिया का राष्‍ट्रपति मून जे-इन. पिछले साल सत्‍ता संभालने के बाद मून जे-इन ने उत्‍तर कोरिया से बेहतर रिश्‍ते स्‍थापित करने की इच्‍छा जताई थी. इसके बाद उन्‍होंने कई बार उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से मुलाकात भी की. इसी दौरान उन्‍होंने किम को डोनाल्‍ड ट्रंप से मुलाकात के लिए राजी किया.

राष्‍ट्रपति बनते ही मून ने जताई दोस्‍ती की इच्‍छा
मून जे-इन का जन्‍म 24 जनवरी, 1953 को दक्षिण कोरिया में हुआ था. वह डेमोक्रेटिक पार्टी के हैं. उन्‍होंने मई 2017 में पार्क गुयेन ह्ये के स्‍थान पर राष्‍ट्रपति पद की शपथ ली. पार्क को भ्रष्‍टाचार के आरोप में पद से हटा दिया गया था. इससे पहले मून जे-इन कई प्रमुख पदों पर रहे हैं. राष्‍ट्रपति बनने के बाद मून जे इन ने उत्‍तर कोरिया के साथ रिश्‍ते सुधारने के लिए प्रयास करने की इच्‍छा जाहिर की थी. इसके लिए प्रयास भी किए.

मून ने बढ़ाया बातचीत का हाथ
मून जे-इन की कोशिशों के बाद उत्‍तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के अधिकारियों ने नौ जनवरी, 2018 को सीमावर्ती गांव में मुलाकात की. इस दौरान दक्षिण कोरिया में होने वाले विंटर ओलंपिक्‍स में उत्‍तर कोरियाई एथलीटों और प्रतिनिधिमंडल के भी हिस्‍सा लेने पर सहमति बनी. इसके बाद फरवरी में प्‍योंगचांग में आयोजित ओलंपिक्‍स में बड़ी संख्‍या में उत्‍तर कोरियाई एथलीट गए. प्रतिनिधिमंडल में किम जोंग उन की बहन भी शामिल थी. उन्‍होंने किम जोंग उन की ओर से दक्षिण कोरियाई राष्‍ट्रपति मून जे-इन से भी मुलाकात की थी. इस मुलाकात में दोनों देशों के बीच मैत्री संबंध स्‍थापित करने को लेकर बातचीत हुई.

इनपुट भाषा से भी