EBM News Hindi

हिमाचल पहुंचा निपाह वायरस का खौफ! स्कूल में मरे मिले 18 चमगादड़

नई दिल्ली/शिमला: केरल में निपाह वायरस से अब तक 10 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि 15 पीड़ितों का इलाज जारी है. सरकार ने केरल के अलावा 5 अन्य राज्यों में भी निपाह को लेकर सावधानी बरतने के लिए एडवाइजरी जारी की है. इनमें जम्मू-कश्मीर, गोवा, राजस्थान, गुजरात और तेलंगाना शामिल हैं. लेकिन, हिमाचल में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के नहान सब डिवीजन के एक सीनियर सेकेंड्री स्कूल में 18 मरे हुए चमगादड़ मिले हैं. बताया जा रहा है कि ये चमगादड़ स्कूल के पेड़ पर काफी लंबे समय से मंडराते रहते थे. चमगादड़ों की अचानक मौत से लोगों निपाह वायरस का खौफ फैल गया है.

चमगादड़ के सैंपल लिए गए
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश के लोगों को डर है कि कहीं निपाह वायरस यहां तो नहीं पहुंच गया. लोग चमगादड़ की मौत की वजह निपाह को ही मान रहे हैं. सूचना मिलने के बाद मौके पर पशु चिकित्सकों की एक टीम पहुंची और सैंपल कलेक्ट कर जांच के लिए भेज दिया है. टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की असली वजहों का पता चल पाएगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस सैंपल को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरल डिजीज पुणे और जालंधर भेजा गया है.

इन 3 फलों से फैल रहा है खतरनाक निपाह वायरस, भूलकर भी न खाएं

चमगादड़ का होगा पोस्टमार्टम
मरे चमगादड़ों के ढेर को देखते ही लोगों में सनसनी फैल गई है. घटना के बाद प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा. मृतक चमगादड़ों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं. इनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत की वजह का खुलासा हो पाएगा. अचानक हुई इन चमगादड़ों की मौत पर वन विभाग के डीसी ललित जैन का कहना है कि चमगादड़ों की मौत के बाद इस क्षेत्र में ऐसा वायरस फैल ही नहीं सकता है. क्योंकि चमगादड़ों के मरने से किसी भी प्रकार के संक्रमण फैलने की कोई संभावना नहीं पाई गई है.

चमगादड़ों की मौत से नहीं फैलता वायरस
लोगों के दहशत को देखते हुए वन विभाग के डीसी ललित जैन ने लोगों से अपील की वो परेशान या भयभीत ना हो क्योंकि चमगादड़ों की मौत के बाद इस क्षेत्र में ‘निपाह वायरस’ के फैलने की संभावना ना के बराबर है क्योंकि चमगादड़ों के मरने के बाद संक्रमण फैलने की संभावना नहीं पाई गई है. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि गर्मी के कारण चमागादड़ों की मौत हुई हो. सैंपल कलेक्ट करने के बाद मृत चमगादड़ों को दफना दिया. सिरमौर जिले के डिप्टी कमिश्नर, ललित जायल ने कहा कि चमगादड़ों की मौत की खबर के बाद तुरंत हमने मेडिकल टीम को मौके पर भेजा.

मृत चमगादड़ों को दफना दिया गया
मौत की वजह जानने के लिए सैंपल कलेक्ट कर लिए गए हैं, जबकि किसी तरह के अन्य नुकसान से बचने के लिए चमगादड़ों को दफना दिया गया है. क्या चमगादड़ों की मौत निपाह वायरस की वजह से हुई है? जवाब में डिप्टी कमिश्नर जायल ने कहा कि जब तक लैब रिपोर्ट नहीं आ जाती है, तब तक इसके बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी.