EBM News Hindi

सख्ती बढ़ने से सैकड़ों कारोबारियों का जीएसटी रजिस्ट्रेशन निलंबित, व्यापारी छोटी गलतियों पर भी निलंबन का लगा रहे आरोप

नई दिल्ली। जीएसटी मामले में जरा भी हेराफेरी अब बर्दाश्त नहीं की जा रही है। पहली जनवरी से अब तक सैकड़ों कारोबारियों का जीएसटी पंजीकरण निलंबित किया जा चुका है। जीएसटी निलंबन की वजह से इन कारोबारियों का रिफंड रुकने के साथ-साथ बाजार में उनकी छवि को भी धक्का लगा है। कारोबारियों का कहना है कि मामूली गलती पर पंजीकरण निलंबित होने से कारोबार में नुकसान हो रहा है। व्यापारियों व ट्रांसपोटर्स ने इसके विरोध में 26 फरवरी को भारत व्यापार बंद का एलान किया है। जीएसटी अधिकारियों ने बताया कि उन कारोबारियों के पंजीयन निलंबित हो रहे हैं, जिनके पते वास्तविक जांच में सही नहीं पाए जा रहे हैं या फिर उन पर गलत रिटर्न भरने का मामला बनता है।

जीएसटी एक्सपर्ट एवं सीए राजदर अरोड़ा ने बताया कि जीएसटी विभाग के अधिकारियों को जीएसटी मामले में थोड़ी सी भूल पर पंजीकरण निलंबन का अधिकार दे दिया गया है। छोटे शहरों में जीएसटी के कई जटिल प्रविधानों को कारोबारी समझ नहीं पाते हैं और गलती कर बैठते हैं। इससे उनका पंजीकरण निलंबित हो रहा है। दिल्ली के करोल बाग के एक व्यापारी ने अपने पते में बदलाव किया तो उसका जीएसटी पंजीकरण निलंबित कर दिया गया। विशेषज्ञों के मुताबिक पंजीकरण के निलंबित होने से रिफंड रुक जाते हैं। कारोबारी रिटर्न दाखिल नहीं कर सकता है। कारोबार की पूरी चेन प्रभावित होती है। बाजार में उस कारोबारी को लेकर गलत छवि बनती है जो उसके लिए नुकसानदायक है।

एप्लिकेशन डाउनलोड करें और खबर का आनंद लें
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ebmnews

हमारे पेज को लाइक करें और अपने फेसबुक पर खबर देखें
https://facebook.com/ebmnewshindi

न्यूज़ वीडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करें
https://www.youtube.com/c/EBMNewsHindi?sub_confirmation=1

और खबरें जल्दी पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
https://chat.whatsapp.com/BYt4JevxzxRDghrkttYeGB