EBM News Hindi

…तो यहां से आया आपके एंड्रायड स्‍मार्टफोन में UIDAI नंबर, जानें क्‍या है इसका गूगल कनेक्‍शन

नई दिल्‍ली : एंड्रायड स्‍मार्टफोन यूजर्स की कांटेक्‍ट लिस्‍ट में अचानक दिखने वाले UIDAI (यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया) के हेल्‍पलाइन नंबर के वहां तक पहुंचने की कहानी से पर्दा उठ गया है. भारत में इसे लेकर सोशल मीडिया और अन्‍य जगहों पर मचे घमासान के बाद दुनिया की शीर्ष तकनीकी कंपनी और एंड्रायड निर्माता गूगल ने इस पर स्‍पष्‍टीकरण जारी किया है.

गूगल ने दी सफाई
गूगल ने अपने वेरीफाइड ट्विटर अकाउंट में शुक्रवार को एक ट्वीट करके इस पर अपनी गलती मानते हुए ट्वीट कर पूरे मामले की जानकारी दी. उसका कहना है कि ‘मामले पर आंतरिक समीक्षा करने पर हमें पता चला कि 2014 में, उस समय के UIDAI हेल्‍पलाइन नंबर 18003001947 और 112 डिस्‍ट्रेस हेल्‍पलाइन नंबर को भारत में रिलीज होने वाले सभी एंड्रायड स्‍मार्टफोनों के सेट अप विजर्ड में कोड किया गया था. ये नंबर तबसे उन्‍हीं में ही है.’ इसका मतलब है कि इन नंबरों को स्‍थायी तौर पर भारत में बिकने वाले सभी एंड्रायड स्‍मार्टफोनों में कोड किया गया था. तबसे यह नंबर इन सभी फोनों में है.

मांगी माफी
गूगल ने अपने ट्वीट में आगे लिखा है कि ‘जब भी किसी एंड्रायड यूजर अपना एंड्रायड स्‍मार्टफोन बदला तो यह नंबर गूगल के जरिये उसके नए फोन की कांटेक्‍ट लिस्‍ट में ट्रांसफर हो गया.’ गूगल ने आगे मामले में माफी भी मांगी है. उसने कहा है कि ‘हम इस मामले के कारण हो रही दिक्‍कतों के लिए क्षमाप्रार्थी हैं’.

गलत इस्‍तेमाल नहीं
गूगल ने कहा ‘हम सभी को आश्‍वस्‍त कराना चाहते हैं कि इससे एंड्रायड स्‍मार्टफोन के अनाधिकृत या गलत इस्‍तेमाल जैसी कोई स्थिति नहीं है. यूजर्स अपने आप स्‍मार्टफोन से डिलीट कर सकते हैं. गूगल ने कहा है कि हम नए एंड्रायड स्‍मार्टफोनों में इस समस्‍या को दूर करने के प्रयास कर रहे हैं. इन स्‍मार्टफोन को कुछ ही सप्‍ताह में बाजार में उपलब्‍ध करा दिया जाएगा.

मचा था बवाल
बता दें कि दो दिन पहले एंड्रायड स्मार्टफोन यूजर्स की कांटेक्ट लिस्ट में UIDAI का कथित हेल्पलाइन नंबर अचानक सेव होने का मामला सामने आया. इस नंबर के मोबाइल फोन में अपने आप आ जाने के बाद लोग शिकायत दर्ज करा रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ ट्विटर पर लोग अपने-अपने तरीके से इसकी खिल्ली उड़ा रहे हैं.

UIDAI ने दी सफाई
इसके बाद आनन-फानन में UIDAI ने आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि उसने किसी मोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरिंग कंपनी या टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर से प्राधिकरण का टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 18003001947 स्‍मार्टफोन पर अपडेट करने को नहीं कहा है.

महाराष्ट्र पुलिस पुलिस ने कहा डिलीट कीजिए
महाराष्ट्र पुलिस के साइबर सुरक्षा सेल ने शुक्रवार को देर शाम कहा है कि अगर यूआईडीएआई के नाम से कोई नंबर अपने आप मोबाइल फोन में जुड़ जाए तो इसे डिलीट किया जाए. गूगल ने कहा कि नंबरों को फोन से डिलीट किया जा सकता है. उसने इस दिक्कत को खत्म करने का भी वादा किया.