Ultimate magazine theme for WordPress.

चाचा पशुपति के खिलाफ चिराग का ‘शक्ति प्रदर्शन’, दिल्ली में LJP नेताओं के साथ की बैठक

काफी दिनों से लोक जनशक्ति पार्टी में अंदरुनी घमासान जारी है, जहां स्वर्गीय रामविलास पासवान के भाई पशुपति कुमार पारस अपने भतीजे चिराग के पर कतरने में लगे हुए हैं। वहीं दूसरी ओर चिराग भी पूरी तरह से डिफेंस मोड में आ गए और चाचा के सामने शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं। दो दिन पहले उन्होंने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात कर पशुपति पारस के अध्यक्ष बनाए जाने पर ऐतराज जताया था, तो वहीं रविवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ अपने ऑफिस में एक अहम बैठक की।

दरअसल चिराग का खेमा पशुपति कुमार पारस के पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने को असंवैधानिक मानता है। उनका कहना है कि जब राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई तो उसमें न्यूनतम सदस्य भी उपस्थित नहीं थे। ऐसे में पारस के निर्विरोध जीतने की बात में दम नहीं है। इसी वजह से आज चिराग पार्टी ने वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की। इस बैठक में उन्होंने चाचा के खिलाफ रणनीति तैयार की, ताकी अपना वर्चस्व पार्टी में दोबारा से स्थापित कर सकें। बैठक के बाद चिराग ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अधिकांश सदस्य उपस्थित थे। सभी ने एक स्वर में निष्कासित नेताओं द्वारा पार्टी के चिह्न और नाम का उपयोग किए जाने की निंदा की। साथ ही रामविलास पासवान को भारत रत्न देने और बिहार में उनकी एक बड़ी प्रतिमा स्थापित करने की भी मांग की गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.