EBM News Hindi

ब्रिटेन में भयावह हुआ कोरोना! ब्रिटिश एयरवेज ने रद्द कर दी हजारों उड़ानें

लंदन. कोरोना वायरस  के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन दुनिया में फैलता जा रहा है. इस वजह से ज्यादातर देशों ने अपने यहां यात्रा प्रतिबंधलगा दिए हैं. इस बीच ब्रिटेन ने भी कोरोना के नियमों में सख्ती कर की है. ब्रिटिश एयरवेज  ने मंगलवार को कम से कम 2000 फ्लाइट्स को मार्च 2022 के लिए कैंसिल कर दिया है. कोरोना महामारी के कारण हवाई यात्रा की मांग में कमी को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में कमी की गई है.

एविएशन वेबसाइट सिंपल फ्लाइंग ने अपनी रिपोर्ट में सीरियम के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि ब्रिटिश एयरवेज ने अपने विंटर शेड्यूल से 2,144 उड़ानों में कटौती की है. इनमें आधे से अधिक की योजना जनवरी के लिए बनाई गई थी. एयरलाइन ने दिसंबर में 210 उड़ानें, जनवरी में 1,146, फरवरी में 210 और मार्च में 243 उड़ानों कटौती की है.

इस फैसले से लंदन से बेलफास्ट जैसे घरेलू मार्ग और लंदन से केपटाउन जैसी अंतरमहाद्वीपीय उड़ानें प्रभावित हुई हैं. प्रभावित यात्री फुल रिटर्न और ऑप्शनल उड़ानों के हकदार होंगे.

हालांकि, ब्रिटिश एयरवेज के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘बेशक कोरोना का नया वेरिएंट फैल रहा है, लेकिन विंटर शेड्यूल में कटौती का इससे कोई लेना-देना नहीं है. एयरवेज ने उड़ानों की कम मांग के कारण अपने शेड्यूल को मैनेज किया है.’ उन्होंने सन ऑनलाइन ट्रैवल को बताया- ‘अन्य एयरलाइनों की तरह निरंतर कोरोना वायरस महामारी के कारण हम कम से कम और गतिशील शेड्यूल का संचालन कर रहे हैं.’

वहीं, फिलिप्स 66 लिमिटेड के साथ एक बहु-वर्षीय समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद ब्रिटिश एयरवेज यूके में व्यावसायिक पैमाने पर उत्पादित सतत विमानन ईंधन का उपयोग करने वाली पहली एयरलाइन बन जाएगी. ब्रिटिश एयरवेज ने एक बयान में कहा कि, “हजारों टन सतत विमानन ईंधन (एसएएफ) (sustainable aviation fuel(SAF) का उत्पादन यूके में पहली बार इम्मिंघम के पास फिलिप्स 66 हंबर रिफाइनरी में किया जाएगा और ब्रिटिश एयरवेज को 2022 की शुरुआत से अपनी कई उड़ानों को आपूर्ति की जाएगी.”

बयान के अनुसार, ब्रिटिश एयरवेज और फिलिप्स 66 लिमिटेड के बीच आपूर्ति समझौता, विविध ऊर्जा निर्माण और रसद कंपनी फिलिप्स 66 की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, दोनों कंपनियों की प्रतिबद्धताओं को कम कार्बन भविष्य के लिए आगे बढ़ाती है.

एयरलाइन, जो 2050 तक नेट जीरो कार्बन उत्सर्जन प्राप्त करने का प्रयास कर रही है, जीवनचक्र CO2 उत्सर्जन को लगभग 100,000 टन कम करने के लिए पर्याप्त सतत ईंधन खरीदेगी, जो लंदन और न्यूयॉर्क के बीच अपने ईंधन पर 700 नेट जीरो CO2 उत्सर्जन बोइंग 787 विमान उड़ानों को शक्ति देने के बराबर है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.