EBM News Hindi

अमिताभ बच्‍चन के साथ 37 साल पहले हुआ था ये हादसा, जिसके चलते इतनी खतरनाक बीमारी से जूझ रहे

नई दिल्‍ली, 1 दिसंबर। सदी के महानायक अमिताभ बच्‍चन ने अक्‍टूबर महीने में अपना 79 वां जन्‍मदिन मनाया। इस उम्र में भी केबीसी का मंच हो या कोई फिल्‍म की शूटिंग उनका एनर्जी लेबल और जिंदादिली आज के कलाकारों को भी मात देती है। लेकिन आपको जानकर ताज्‍जुब होगा कि बिग बी की जिंदगी में आज से 37 साल पहले ऐसा हादसा हुआ था जिसके कारण वो एक गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं।
दरअसल, फिल्‍म कुली की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्‍चन के साथ ये हादसा हुआ था। शूटिंग के दौरान वो इतना घायल हो गए थे कि उनके पेट के अंदर इंटरनल ब्लीडिंग हुई और जिसके कारण ब्‍लड लॉस के कारण बिग बी को खून की काफी कमी हो गई।

सुपरस्‍टार की जान बचाने के लिए करीब 60 बोतल उन्‍हें चढ़ा। 200 लोगों ने उनके लिए उस समय खून डोनेट किया था। लेकिन उस समय अमिताभ की जान को खतरा देखते हुए जल्‍दीबाजी में किसी ऐसे शख्‍स का खून चढ़ा दिया गया जिसे हेपेटाइटिस था जिस कारण वो उसके कुद समय बाद हेपेटाइटिस बी बीमारी की चपेट में आ गए थे।

अमिताभ बच्‍चन ने इस बात का खुद एक बार खुलासा किया था कि वो अपने 25 फीसदी लिवर पर ही जिंदा है उनका 75 प्रतिशत लिवर का हिस्‍सा खराब हो चुका है। हेपेटाइटिस बी के कारण उनका लिवर खराब हो चुका है। इस बीमारी का पता उन्‍हें 18 साल बाद रूटीन चेकअप के दौरान पता चला कि उनका लिवर डैमेज हो गया है।

हेपे‍टाइटिस ने उनके लिवर को इतना डैमेज कर दिया था कि अमिताभ को लिवर सिरोसिस हो गया था और आपरेशन करके 75 फीसदी लिवर डॉक्‍टरों को सर्जरी में निकालना पड़ा था। इस सर्जरी के बाद से अमिताभ 25 प्रतिशत लिवर पर ही जीवित हैं। सही और समय पर खान-पान और व्‍यायाम और दवाओं के सेवन से अमिताभ स्‍वयं को फिट रखते हैं।

अमिताभ को केवल लिवर ही नहीं वर्ष 2000 में उन्‍हें टीबी जैसी भी बीमारी हो गई थी लेकिन वो दवा से वो जल्‍द ही ठीक हो गए थे। बिग बी को अस्‍थमा भी है जिस कारण वो इन्‍हेलर लेते हैं। अपने साथ इन्‍हेलर हमेशा कैरी करते हैं। कोरोना की दूसरी लहर में अमिताभ बच्‍चन कोरोना की चपेट में आए लेकिन इतनी बीमारियों के बावजूद अपने आत्‍मबल और सही समय पर अस्‍पताल में भर्ती होकर इलाज करवा कर स्‍वस्‍थ हो गए।

अमिताभ बच्‍चन ने कुछ महीने पहले खुद ही खुलासा किया था कि उनकी आंख में कुछ बीमारी हो गई जिस कारण उनकी आंख फड़क रही थी। चेकअप करवायातो आंख की पुतली पर एक काला धब्बा नजर आया। डॉक्‍टरों ने बताया कि उम्र के कारण उनकी आंखों का सफेद हिस्सा घिस गया है, जिसके कारण कालापन नजर आने लगा है। हालांकि 65 साल की उम्र के बाद 80% लोगों को ये समस्या हो सकती है।जिसके बाद अमिताभ ने एक ट्टीट लिखकर अपनी मां को भी याद किया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.