EBM News Hindi

ईद मुबारक…देश भर में ईद की रौनक, राष्‍ट्रपति ने दी देशवासियों को बधाई

नई दिल्ली: देशभर में ईद उल फितर का त्योहार शनिवार (16 जून) को मनाया जायेगा. जामा मस्जिद के शाही इमाम, इमाम बुखारी ने शुक्रवार (15 जून) की शाम को इसकी घोषणा की. इमाम की घोषणा करने के बाद देशभर में खुशियां छा गईं और बाजार में रौनक दिखाई देने लगी. चांद के दीदार के एलान के साथ बुखारी ने कहा, ‘ईद-उल-फितर के पाक मौके पर मैं सभी देशवासियों को दिली मुबारकबाद देता हूं’. ईद की खुशियों के साथ ही रमजान का मुकददस महीना खत्म हो गया हैं. देशभर में नमाजी ईद की नमाज अदा करे हैं. दिल्ली, भोपाल, जम्मू-कश्मीर, महाराष्ट्र सहित देशभर में ईद की नाम नमाज पढ़कर लोग गले लगकर एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं.

राष्‍ट्रपति ने देशवासियों को दी बधाई
राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ईद-उल-फितर की पूर्व संध्‍या पर देशवासियों को बधाई दी और समाज में भाईचारा और आपसी समझ बढ़ने की कामना की. राष्‍ट्रपति ने अपने संदेश में कहा, ‘ईद-उल-फितर के पाक मौके पर मैं सभी नागरिकों और विशेष रूप से देश और विदेश में रहने वाले हमारे मुस्लिम भाइयों और बहनों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं. रोजेदारों की इबादत के बाद पवित्र रमजान महीने का समापन उत्‍सव मनाने का अवसर है. मैं कामना करता हूं कि इस अवसर पर हमारे समाज में भाईचारा और आपसी समझ बढ़े’.

लखनऊ में 9 बजे पढ़ी जाएगी ईद की नमाज
यूपी, उत्तराखंड सहित पूरे देश में मुस्लिम समाज आज ईद का त्योहार मना रहे हैं. लखनऊ में ईदगाह में सुबह 9 बजे ईद की नमाज पढ़ी जाएगी. वहीं ईद को लेकर सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाईक ने प्रदेशवासियों को ईद की बधाई दी. गौरतलब है कि ईद का त्योहार नया चांद दिखने के अगले दिन शुरू होने वाले शव्वाल के महीने के पहले दिन मनाया जाता है. देशभर में ईद से पहले खुशी का माहौल है, लोग इसके लिए बाजारों में घूमने और शॉपिंग करने निकले.

क्या है ईद के मायने
दुनियाभर के मुसलमानों के लिए ईद खुशी का सबसे बड़ा दिन माना जाता है. ये दिन इसलिए भी खास है, क्योंकि पूरे रमज़ान में रोज़े रखने के बाद ये दिन मुसलमानों के लिए अल्लाह की तरफ से एक तोहफा है. 30 दिन के रोजे के बाद ईद-उर-फितर खुशियों का पैगाम लेकर आता है. ईद में मुसलमान अल्लाह का शुक्रिया अदा इसलिए भी करते हैं कि उन्होनें महीने भर रोजे रखने की शक्ति दी. इस ईद को ईद-उल-फितर कहा जाता है. ईद के दिन सुबह पहले नमाज़ पढ़ी जाती है, जिसके बाद लोग आपस में एक दूसरे को इस दिन की मुबारकबाद देते हैं. इस दिन लोग अपने सभी गिल शिकवे भूलाकर आपस में गले मिलते हैं.