EBM News Hindi

ई-कॉमर्स कंपनियों ने फिर शुरू की होम डिलीवरी, अब नहीं होगी ज्‍यादा टेंशन

0

नई दिल्ली। लॉकडाउन की वजह से लोग मौका मिलते ही राशन, सब्जी और अन्य खाद्य पदार्थ भर-भर कर खरीद रहे थे। इसका एक बड़ा कारण यह भी था कि राशन का सामान पहुंचाने वाली अमेजन, ग्रोफर्स जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां ने नया ऑर्डर लेना बंद कर दिया था। साथ ही पुराने ऑर्डर को भी पहुंचाने में असमर्थता जता दी थी। लेकिन अब अधिकांश ई-कॉमर्स कंपनियां ऑर्डर लेने लगी हैं।

बुधवार रात से ग्रोफर्स ने अपने पुराने ऑर्डर्स की डिलीवरी शुरू कर दी है। एप के माध्यम से ग्रोफर्स ने ग्राहकों को संदेश दिया है कि सबसे पहले वह पुराने ऑर्डरों की डिलीवरी करेगी। इसके बाद नए ऑर्डर लेगा। 20 मार्च को ऑर्डर करने वाले करोलबाग निवासी रजत ने बताया कि ग्रोफर्स पहले ऑर्डर पूरा न कर पाने का खेद जता रही थी, लेकिन अब चार अप्रैल को डिलीवरी का संदेश दिखा रही है। ग्रोफर्स से मैसेज मिलने से राहत मिली है।

इसी तरह अमेजन और मिल्क बास्केट ने भी डिलीवरी शुरू कर दी है। अमेजन पर अभी ऑर्डर करने पर तीन-चार दिन में डिलीवरी हो जा रही है। वहीं, मिल्क बास्केट से दूध और सब्जियां ऑर्डर के दो दिन बाद डिलीवर हो रही है। बिग बास्केट, 24 सेवन, वाव एक्सप्रेस, जोमैटो, स्वीगी ने भी नए ऑर्डर लेने शुरू किए हैं। दवा के लिए मेडिलाइफ व फार्मइजी आदि कई कंपनियों ने ऑर्डर लेना शुरू किया है।

ई-कॉमर्स कंपनियों के ऑर्डर लेना शुरू करने से लोगों ने राहत की सांस ली है। लोगों को लग रहा है कि घर में रहते हुए उन्हें अब जरूरत की चीजें मिल सकेंगी, इसके लिए उन्हें अपना स्वास्थ्य खतरे में रखकर बाहर नहीं जाना पड़ेगा। पिछले तीन-चार दिनों से लोग ज्यादा से ज्यादा सामान खरीदने में लगे हुए थे। सभी को लग रहा था कि लॉकडाउन आगे भी बढ़ सकता है। साथ ही सामान मिलना बंद हो जाएगा। ऑनलाइन कंपनियों के ऑर्डर बंद करने के बाद लोगों का डर और बढ़ गया था।