EBM News Hindi

दिल्‍ली में लगेगा लॉकडाउन? जानिए क्‍या बोले स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन

नई दिल्‍ली। कोरोनावायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन, जिसे अब तक का सबसे खतरनाक माना जा रहे है, से निपटने के लिए राजधानी दिल्ली में दिल्‍ली सरकार कई तरह से तैयारियां कर रही है। लोगों के मन में सवाल उठ रहे हैं कि दिल्‍ली में लॉकडाउन भी लगेगा, इस पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने स्‍पष्‍टीकरण दिया। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि अभी ओमिक्रॉन कुछ ही देशों में फैला है, और ऐसे में हम यात्रियों के कोरोना टेस्‍ट, क्‍वारंटाइन और उपचार की प्रक्रिया पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा, “खासतौर पर नए वैरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। इसके मरीज मिलने पर और पॉजिटिवटी रेट बढ़ने पर दिल्‍ली में “ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन” योजना को लागू किया जाएगा।”

स्वास्थ्य मंत्री ने दिल्‍लीवासियों को कोरोनावायरस के नए वैरिएंट को लेकर आगाह भी किया, उन्‍होंने कहा कि, ओमिक्रॉन डेल्टा वैरिएंट की तुलना में कहीं अधिक पारगम्य है। यह तेजी से फैलता है। हालांकि, देश में इससे मौतें नहीं हुई हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के अधिकारी ओमिक्रॉन संस्करण से प्रभावित देशों से आने वाले सभी लोगों का परीक्षण करा रहे हैं। दिल्‍ली में नए वैरिएंट के केस मिलने पर जैन ने कहा, “अब तक कुल 27 लोगों को एलएनजेपी अस्पताल भेजा गया है, जिनमें से 17 लोग कोविड-पॉजिटिव पाए गए हैं, और केवल एक व्यक्ति के ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। वहीं, अन्य का पता लगाने के लिए जांच जारी है, यदि कोई हो।”
दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक बयान में उनके हवाले से कहा गया, “फिलहाल लॉकडाउन की कोई संभावना नहीं है।” हालांकि, विभाग ने आगाह किया कि यह वैरिएंट डेल्टा की तुलना में कहीं अधिक पारगम्य है, और इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए “बारीकी से निगरानी की जा रही है।” जैन ने संवाददाताओं से कहा कि, जिन भी लोगों में वायरस के लक्षण मिले हैं, उन सभी मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और पाया है कि उनमें से कई में लक्षण नहीं हैं।

मंत्री ने कहा, 10 ऐसे लोग हैं, जिन्होंने अपना टेस्‍ट कराया तो निगेटिव निकले, जबकि वे कोरोना मरीजों के संपर्क में आए थे। उन्होंने कहा कि 12 रोगियों से लिए गए नमूनों की जीनोम अनुक्रमण किया गया है, जिनमें से केवल एक ओमिक्रोन से पीडि़त था, और बाकी पांच संक्रमित रोगियों के सैंपल के परिणाम 2-3 दिनों में आने की उम्मीद है। यह पूछे जाने पर कि क्या लॉकडाउन की संभावना है, उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में लॉकडाउन की संभावना से इनकार किया।
संवाददाताओं से उन्होंने कहा, पिछले पांच महीनों में, कोविड पॉजिटिवटी रेट 0.50 प्रतिशत से काफी नीचे रही है और दैनिक मामले 30-60 या उससे अधिक की सीमा में रहे हैं,। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि ग्रेडेड रिस्पांस सिस्टम के अनुसार जब पॉजिटिवटी रेट 0.50 प्रतिशत तक पहुंच जाएगी, यानी परीक्षण किए गए 1,000 लोगों में से पांच पॉजिटिव निकलेंगे, तो इस सिस्‍टम का पहला स्तर लागू किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.