EBM News Hindi

CWG 2018 में गोल्ड मेडल जीतने वालीं भारत की वेटलिफ्टर संजीता चानू डोप टेस्ट में फेल

नई दिल्लीः राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता वेटलिफ्टर संजीता चानू डोप टेस्ट में फेल हो गईं हैं. राष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (IWF) ने गुरुवार को यह जानकारी दी. इसे घोषणा के बाद से ही संजीता चानू को अपना स्वर्ण पदक वापस करना होगा. इसके साथ ही आईडब्ल्यूएफ ने संजीता चानू को अस्थाई तौर पर सस्पेंड कर दिया है. इसके साथ ही गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारत द्वारा जीते हुए स्वर्ण पदकों की संख्या भी कम हो जाएगी. भारत ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने 26 गोल्ड मेडल जीते थे. जिनमें से 5 गोल्ड मेडल वेटलिफ्टिंग में ही जीते थे. इनमें 3 मेडल महिला वेटलिफ्टरों ने जीते थे और 2 मेडल पुरुष वेटलिफ्टरों ने जीते थे.

बता दें कि गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारत की महिला भारोत्तोलक खिलाड़ी संजीता चानू ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के दूसरे दिन 6 अप्रैल को भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था.

संजीता ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर एकतरफा प्रदर्शन किया और महिलाओं की 53 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में भारत की झोली में एक और स्वर्ण डाला था.

संजीता चानू ने स्नैच में 84 किलोग्राम का भार उठाया जोकि गेम रिकार्ड रहा. वहीं, क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 108 किलोग्राम का भार उठाया था. इस दौरन संजीता द्वारा उठाया गया कुल स्कोर 192 किलोग्राम रहा था और इसके साथ ही वह सोने का तमगा अपने नाम करने में सफल रहीं थीं.

स्पर्धा का रजत पापुआ न्यू गिनी की लाउ डिका ताउ को मिला, जिनका कुल स्कोर 182 रहा. कनाडा की रचेल लेब्लांग को 181 के कुल योग के साथ कांस्य से संतोष करना पड़ा.