EBM News Hindi

Coronavirus Pandemic: कम्युनिटी और लोकल ट्रांसमिशन का क्या मतलब है?

नई दिल्ली। What Is Community Transmission: भारत सरकार ने यूं तो अभी तक कोरोना वायरस के सामुदायिक प्रसारण यानी कम्युनिटी ट्रांसमिशन की पुष्टि नहीं की है, लेकिन एक्सपर्ट्स की मानें तो किसी भी वक्त इसकी घोषणा हो सकती है। ऐसा माना जा रहा है कि कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू हो चुका है।

दूसरे चरण में लोकल ट्रांसमिशन होता है, यानी स्थानीय स्तर पर संक्रमण फैलता है, लेकिन ये वे लोग होते हैं जो किसी ना किसी ऐसे संक्रमित शख़्स के संपर्क में आये जो विदेश यात्रा करके लौटा हो।

संक्रमण के सामुदायिक प्रसारण का क्या मतलब है?

‘कम्युनिटी ट्रांसमिशन’ तब होता है जब कोई व्यक्ति सीधे तौर पर संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए बिना या संक्रमित देश की यात्रा किए बिना ही इसका शिकार हो जाता है। आसान भाषा में इस दौरान ये पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि इंफेक्शन कैसे लगा है। कम्युनिटी ट्रांसमिशन का मतलब अब वायरस एक कम्युनिटी में फैल रहा है और ये उन लोगों को भी संक्रमित कर सकता है जो कभी देश से बाहर या किसी ऐसे व्यक्ति से नहीं मिले जो इससे पीड़ित है।

भारत में पाए गए लगभग सभी मामले ऐसे थे जिनके ट्रेवल हिस्ट्री का पता लगाया जा सका। हालांकि, कुछ ऐसे भी मामले थे जिसमें समझना मुश्किल हो गया कि आखिर व्यक्ति संक्रमित कैसे हो गया। जैसे रामपुर का रहने वाला एक 20 साल का नाई कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया। इसके मामले में एक्सपर्ट्स का मानना है कि ये कम्युनिटी ट्रांसमिशन का केस हो सकता है।

यह याद रखना भी महत्वपूर्ण है कि भारत में परीक्षण धीरे-धीरे आगे बढ़ा है। ज़्यादातर एक्सपर्ट्स का मानना है कि भारत में ज़्यादा मामले इसलिए सामने नहीं आए हैं, क्योंकि यहां अभी तक पर्याप्त लोगों का परीक्षण नहीं किया गया है।

भारत ने उठाए हैं ये कदम

भारत सबसे पहले चीन से आने और जाने वाली सभी यात्राएं रद्द कर दी थीं। हालांकि, जब कोरोना वायरस के मामले दुनिया के बाकी देशों में फैलने शुरू हुए तो, भारत ने सभी फ्लाइट्स और वीज़ा पर रोक लगा दी।