EBM News Hindi

LockDown: E-commerce ग्रोसरी कंपनियों ने कहा-सामान पहुंचाने में हो रही दिक्कत, जबरन रोक रही पुलिस

0

नई दिल्ली। सोमवार से भारत के कई शहरों में लॉकडाउन की वजह से ई-कॉमर्स और ऑनलाइन किराने का सामान गोदाम में रखने वालों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। साथ ही उन्हें इसके वितरण कार्यों में भी दिक्कत आई।

दरअसल, सोमवार को भारत के लगभग 75 जिले कोरोनोवायरस से निपटने के लिए लॉकडाउन में थे। जबकि मंगलवार तक यह आंकड़ा 548 जिलों तक पहुंच गया। मंगलवार की सुबह तक भारत में कोरोना के 468 मरीज पॉजिटिव पाए गए। जबकि 9 की जान जा चुकी थी। जिस वजह से दिक्कत आई।

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने राज्यों से कुछ ई-कॉमर्स कंपनियों को डिलीवरी की छूट देने की बात कही थी, लेकिन कई राज्यों की ओर से जारी नोटिफिकेशन की वजह से भ्रम पैदा हुआ और सप्लाई में दिक्कत आई।

चीन की अलीबाबा ग्रुप-समर्थित ऑनलाइन ग्रोसरी फर्म BigBasket ने कहा कि उसे कई शहरों में अपने सामान पहुंचाने में मुश्किल का सामना करना पड़ा, क्योंकि पुलिस उसके स्टाफ को कई जगह रोक रही थी। बिगबास्केट ने कहा कि पुलिस को आधी-अधूरी जानकारी है, जबकि सरकार का साफ कहना है कि किराने के सामान की डिलीवरी हो सकती है और इसे बेचा जा सकता है। बिगबास्केट ने कहा कि कुछ डिलीवरी स्टाफ को संचालन से रोक दिया गया।

BigBasket के कार्यकारी हरि टी.एन. ने कहा कि हमें उम्मीद है कि चीजें जल्द ही सुधर जाएंगी, उन्होंने सरकार से आग्रह किया है कि वह किराने के सामान की डिलीवरी बिना किसी रुकावट के जारी रखने का आदेश दे।

हैदराबाद, मुंबई, पुणे और नई दिल्ली के शहरों में ग्रोफर्स के गोदामों को जबरन बंद कराया गया।