EBM News Hindi

हजारों फीट ऊपर आसमान में था प्लेन, तभी पायलट को पड़ गया दौरा

नई दिल्ली: गंतव्य पर पहुंचने से पहले ही एक फ्लाइट में सफर कर रहे यात्रियों और केबिन क्रू की जान उस वक्त खतरे में पड़ गई जब प्लेन के को-पायलट को अचानक मिर्गी का दौरा पड़ गया. हालांकि, प्लेन कमांडर और सीनियर कैबिन सहायक की तत्परता से कोई स्थिति को समय रहते काबू में कर लिया गया और प्लेन की सुरक्षित लैंडिंग संभव हो पाई. को-पायलट को अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें तीन घंटे बाद छुट्टी दे दी गई.

हवा में था प्लेन तभी को-पायलट को पड़ा दौरा
बीबीसी में प्रकाशित खबर के अनुसार, ये पूरी घटना पिछले साल पांच अगस्त की है. इस घटना से संबंधित रिपोर्ट अब जारी की गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, घटना वाले दिन फ्लाईबी की फ्लाइट यात्रियों को लेकर स्कॉटलैंड के इनवर्नेस की ओर जा रही थी. बीच में ही अचानक प्लेन को ऑपरेट कर रहे को-पायलट का शरीर अकड़ने लगा. कंट्रोल पर से उनका नियंत्रण छूटा तो, प्लेन बुरी तरह से झटके खाने लगा.

प्लेन कमांडर और सीनियर स्टाफ ने संभाली स्थिति
प्लेन कमांडर ने तुरंत प्लेन के कंट्रोल संभाले और उसे स्थिर किया. प्लेन के झटके खाने से एक क्रू मेंबर को चोट पहुंची, जिसकी यात्रियों ने मदद की. इस बीच सीनियर कैबिन सहायक तुरंत कॉकपिट की ओर गईं. उन्हें हालात समझने में देर नहीं लगी. उन्होंने तुरंत को-पायलट को कंट्रोल पैनल से दूर किया और उनके हाथ पैर पकड़ लिए. इसके ठीक बाद को-पायलट को दूसरा दौरा पड़ा जो ज्यादा तेज था.

पायलट ने तुरंत मैन्चेस्टर एयरपोर्ट पर इसकी जानकारी दी और लैंडिंग की इजाजत मांगी. इसके बाद प्लेन को मैन्चेस्टर एयरपोर्ट पर लैंड किया गया. जहां से को-पायलट को अस्पताल ले जाया गया.

रिपोर्ट में बताया गया कि स्टाफ और पायलट की सूझबूझ से किसी भी अनहोनी को टालने में सफलता मिल सकी. यही वजह रही कि किसी भी पैसेंजर को इस घटना में कोई चोट नहीं पहुंची.