EBM News Hindi

Climate Change बन रहा अल नीनो की वजह, दुनिया भुगतेगी नतीजे, वैज्ञानिकों ने किया Alert

लास एंजिलिस, पीटीआइ। बाढ़, सूखा, तूफान, भूस्खलन जैसी आपदाओं के लिए लगातार बदलती जलवायु जिम्मेदार है। यह जलवायु संकट अब अल नीनो का कारण भी बन रहा है और ये साल-दर-साल और शक्तिशाली होते जा रहे हैं। एक नए अध्ययन में अमेरिकी शोधकर्ताओं ने यह दावा किया है। यह अध्‍ययन पीएनएएस नामक जर्नल में प्रकाशित हुआ है। वैज्ञानिकों ने चिंता जताते हुए कहा, ‘यदि जलवायु परिवर्तन की बढ़ती दर पर काबू नहीं पाया गया तो भविष्य में पश्चिमी प्रशांत महासागर में और चरम मौसमी आपदाएं देखने को मिल सकती हैं।’

अल नीनो बन रहा खतरा

अध्‍ययन में बताया गया है कि अल नीनो के कारण मध्य और पूर्वी प्रशांत महासागर में सतह का पानी सामान्य से काफी गर्म हो जाता है, जिसके कारण पश्चिमी प्रशांत से अमेरिका की ओर गर्म हवाएं चलनी शुरू हो जाती हैं। साथ ही यह वैश्विक मौसम को भी प्रभावित कर रहा है। इस अध्ययन के शोधकर्ताओं में अमेरिका की हवाई यूनिवर्सिटी के शोधार्थी भी शामिल थे।

1901 से 2017 के बीच की आपदाओं का किया अध्ययन

इस अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं की टीम ने वर्ष 1901 से लेकर 2017 तक 33 अल नीनो की घटनाओं के विवरणों की जांच की। इस दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि लगातार बढ़ती गर्मी के कारण पश्चिमी प्रशांत महासागर में सतह का तापमान बढ़ रहा है। साथ ही, मध्य प्रशांत में तेज हवाओं के चलने से चरम अल नीनो की आवृत्ति में और वृद्धि हुई है।