EBM News Hindi

पालघर लोकसभा उपचुनाव के बाद इस चुनाव में बीजेपी-शिवसेना फिर से आमने-सामने

मुंबई: महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन सहयोगी बीजेपी और शिवसेना पालघर लोकसभा उपचुनाव के बाद एक बार फिर विधान परिषद के चुनाव में आमने – सामने हैं. विधानमंडल के ऊपरी सदन के लिए 25 जून को चुनाव होगा. यहां मुंबई स्नातक , मुंबई शिक्षक , कोंकण स्नातक और नासिक शिक्षक एसोसिएशन सीटों के लिए चुनाव होगा.

वर्तमान सदस्य दीपक सावंत (शिवसेना – मुंबई स्नातक), कपिल पाटिल (लोक भारती पार्टी – मुंबई शिक्षक), निरंजन दवखरे (एनसीपी से बीजेपी में आने वाले – कोंकण स्नातक) और अपूर्वा हीरे (निर्दलीय – नासिक शिक्षक) का कार्यकाल सात जुलाई को समाप्त हो रहा है. यह चुनाव इस लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि शिवसेना ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री दीपक सावंत को मुंबई स्नातक सीट से टिकट देने से इनकार कर दिया. वह इस सीट से दो बार विधान पार्षद रह चुके हैं. इसके अलावा कोंकण स्नातक सीट पर भी करीबी नजरें रहेंगी क्योंकि विधान पार्षद निरंजन दवखरे पिछले महीने एनसीपी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे.

इन चार सीट के लिए कुल 71 प्रत्याशी जोर अजमाइश कर रहे हैं. सत्तारुढ़ गठबंधन कोंकण और मुंबई स्नातक सीट पर आमने – सामने है. कोंकण स्नातक सीट पर बीजेपी के दवखरे का मुकाबला शिवसेना के संजय मोरे से होगा. एनसीपी ने नजीब मुल्ला को मैदान में उतारा है जिसका कांग्रेस और अन्य सामान विचारधारा वाले दलों ने समर्थन किया है. मुंबई स्नातक सीट पर शिवसेना के विलास पोटनिस का मुकाबला बीजेपी के अमित मेहता से होगा.

कांग्रेस और एनसीपी ने निर्दलीय राजेन्द्र कोरडे को समर्थन दिया है. इस सीट से लोक भारती पार्टी के जलिंदर सरोडे भी मैदान में हैं. मुंबई शिक्षक सीट पर शिवसेना के शिवाजी शेंडगे का मुकाबला मौजूदा विधान पार्षद कपिल पाटिल (लोक भारती) से है. पाटिल को कांग्रेस और एनसीपी का समर्थन प्राप्त है जबकि बीजेपी निर्दलीय प्रत्याशी अनिल देशमुख को अपना समर्थन दे रही है. नासिक शिक्षक सीट पर बीजेपी के अनिकेत पाटिल का मुकाबला 23 निर्दलीय प्रत्याशी से है. एनसीपी ने निर्दलीय प्रत्याशी संदीप बेडसे को अपना अपना समर्थन दिया है.